Linseed will get rid of many diseases, use this way

-सीमा कुमारी 

आजकल लोगों की सबसे बड़ी समस्या हेल्थ को लेकर है. एक तो कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को अपने चपेट में ले रखा है और लोग अपने को बीमारियो से मुक्त रखने के लिए पोषण से भरपूर चीजों का सेवन करने का प्रयास कर रहे है. ताकि बीमारी उन्हें छू न सके. आज हम पोषण से भरपूर एक ऐसी चीज के बारे में बताने वाले हैं जो आपको कई बीमारियो में आपकी मदद कर सकता है. अलसी का बीज, अलसी का दूसरा नाम तीसी भी हैं. 

यह एक जड़ी-बूटी है, जिसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी किया जाता है. स्थानों की प्रकृति के अनुसार, तीसी के बीजों के रंग-रूप, और आकार में भी अंतर पाया जाता है. देश भर में तीसी के बीज सफेद, पीले, लाल, या थोड़े काले रंग के होते हैं. आमतौर पर लोग तीसी के बीज, तेल को उपयोग में लाते हैं. तीसी के प्रयोग से सांस, गला, कंठ, कफ, पाचनतंत्र विकार सहित घाव, कुष्ठ आदि रोगों में लाभ मिलता है. चलिए जानते है वो कौन -कौन सी बिमारियो से हमे बचाती है.

  • अलसी के बीज खाने से वजन कंट्रोल में रहता है. इसके अलावा यह ब्लड में मौजूद शुगर लेवल को मेंटेन रखता है.
  • अलसी के बीज का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है.
  • अलसी के बीज का सेवन करने से महिलाओं की पीरियड्स समंधित प्रॉब्लम दूर होती है.  
  • अलसी के बीज खाने से ब्रेस्ट कैंसर और कोलोरेक्टल कैंसर की संभावना कम हो जाती है.       ओमेगा-3 फैटी एसिड, जो अलसी के बीज में प्रचुर मात्रा में होता है, वह ट्यूमर को घटाता है और  अलसी के बीज में मौजूद लिगनन ट्यूमर को काम करने से रोकता है. इसकी वजह से ट्यूमर नया ब्लड नहीं बना पाता है.
  • अलसी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फाइटोकैमिकल्स, बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करती है, जिससे त्वचा पर झुर्रियां नहीं होती और कसाव बना रहता है . इससे त्वचा स्वस्थ व चमकदार बनती है.
  • प्रतिदिन सुबह शाम एक चम्मच अलसी का सेवन आपको पूरी तरह से स्वस्थ रखने में सहायक होता है, इसे पीसकर पानी के साथ भी लिया जा सकता है. अलसी को नियमित दिनचर्या में शामिल कर आप कई तरह की बीमारियों से अपनी रक्षा कर सकते हैं.
  • अलसी की तेल की मसाज करने से चेहरे की सुंदरता बढ़ती है.
  • चाय में अलसी का पाउडर मिलाकर पीने से सर्दी- खांसी में आराम मिलता है. एक कप पानी में अलसी पाउडर डालकर पानी उबालें. अब इसमें शहद और नींबू डालें.
  • अलसी के बीज का सेवन करने से जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है.