कम करें ईयरफोन का इस्तेमाल, खो सकते हैं सुनने की क्षमता

आज कल युवाओं में ईयरफोन का काफी चलन है। अपने अकेलापन को दूर करने के लिए, या मौज मस्ती के लिए अक्सर देखा जाता है कि लोग घंटों तक ईयरफोन लगाए रहते हैं। जिससे उनको तो सुकून मिलता है लेकिन, ईयरफोन को ज़्यादा देर तक कानों में लगाए रहने से हमें बहुत से नुकसान भी होते हैं। ऐसा करना आपको बीमार बना सकता है। यह आपके सुनने की क्षमता को घटा सकता है।  

बात चाहे ऑफिस में गाने सुनते हुए काम करने की हो या फिर कान में ईयरफोन लगाकर सैर पर जाने की तो जान लें, ज़्यादा इस्तेमाल करने पर यह ईयरफोन आपका दोस्त नहीं दुश्मन बन सकता है। इससे सिर्फ आपके कानों को ही नहीं बल्कि आपकी सेहत पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। आइए जानें इसके बारे में…

बहरापन-
एक स्टडी के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति दो घंटे से ज़्यादा समय के लिए 90 डेसिबल से अधिक आवाज़ में गाने सुनता है, तो वह बहरेपन का शिकार होने के अलावा कई बड़ी बीमारियों की चपेट में आ सकता है। 

दिल की बीमारी-
तेज़ आवाज़ में गाने सुनने व्यक्ति के दिल को भी नुकसान होता है। ऐसा करने से हार्ट बीट तेज़ हो जाती है और दिल नार्मल स्पीड के मुकाबले तेज़ी से धड़कने लगता है। इसी कारण से दिल को बहुत नुकसान पहुंच सकता है। 

सिर दर्द –
ईयरफोन से निकलने वाली विद्युत चुंबकीय तरंगों की वजह से व्यक्ति के दिमाग पर बुरा असर पड़ता है। जिसकी वजह से उसे सिर दर्द या नींद न आने की समस्या होने लगती है। 

कोरोनाकाल में ईयरफोन का इस्तेमाल : 
कोरोना (Covid-19) महामारी के दौरान ईयरफोन का इस्तेमाल बहुत ध्यान से करें। ध्यान रखें किसी और का ईयरफोन आप बिलकुल भी इस्तेमाल न करें। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। वहीं अगर ईयरफोन इस्तेमाल करते हैं तो यह जान लें कैसे बचे इसके खतरों से…

सैनेटाइज़ करने के बाद इस्तेमाल करें : 
कोरोनाकाल के दौरान ध्यान रहें की जब भी आप ईयरफोन का इस्तेमाल करें तो इसे अच्छे से पहले सैनिटाइज़र से साफ कर लें। अगर कभी बाज़ार में इसे लगाकर गए हैं तो इसे सैनेटाइज़ करना बिलकुल भी न भूलें।   

 40 फीसदी ही वाल्यूम रखें : 
अगर आप ईयरफोन लगाकर तेज़ आवाज़ में गाने सुनते हैं तो जान लें की ऐसा करने से कान के पर्दो को नुकसान पहुंचता है। इसलिए इसका वॉल्यूम 40 फीसदी तक ही रखें।      

लगातार इस्तेमाल करने से बचें : 
अगर आप ईयरफोन लगाकर घंटों काम करना पड़ता है, तो हर घंटे के बाद 5-10 मिनट के लिए इनको निकलकर कानों को आराम दें। कई घंटों तक लगातार इसका इस्तेमाल करने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है।  

स्पीकर का इस्तेमाल करें : 
अगर आपकी नौकरी ऐसी है कि ऑफिस के बाद भी फोन पर बात करना ज़रूरी रहता है तो ईयरफोन या मोबाइल फोन को कान पर लगाकर बात करने की बजाये आप मोबाइल को स्पीकर पर रखकर बात करें।

अच्छी कंपनी का हो ईयरफोन: 
हमेशा ध्यान रखें कि जब भी ईयरफोन का इस्तेमाल करें तो वह अच्छे कंपनी का हो। इसके साथ ही यह भी देखें कि ईयरफोन का आकार ऐसा हो कि उन्हें लगाने से कानों में दर्द न हो। 

ऐसा काम बिलकुल न करें: 
अक्सर देखा जाता है की लोग यात्रा के दौरान शोर से बचने के लिए ईयरफोन पर तेज़ आवाज़ में गाने सुनने लगते हैं। लेकिन यह आपके कानों को बहुत नुकसान पहुंचा सकते हैं। तो ध्यान रखें ऐसा कभी न करें।