There are many benefits from doing yoga

-सीमा कुमारी

21 जून की तारीख पूरे विश्व में ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ के नाम से दर्ज हो गई है. ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ पहली बार 2015 में मनाया गया था. योग हमेशा से भारत की प्राचीन परंपरा का अमूल्य हिस्सा रहा है आप शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ हैं, तो यकीन मानिए आप बेहतरीन जीवन जी रहे हैं. हालांकि, जिसे से भी पूछो, तो वो कोई न कोई परेशानी गिना ही देता है.

कोई शारीरिक रूप से बीमार है, तो कोई तनाव भरी ज़िंदगी जी रहा है. इस स्थिति से बचने का एकमात्र उपाय योग है. बेशक, आप में से कुछ के लिए इस बात पर भरोसा करना मुश्किल होगा, लेकिन अब कई वैज्ञानिक शोध से पुष्टि हो चुकी है, कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए योग अच्छा विकल्प है. यकीन मानिए योग सभी से होगा और हर रोग का इलाज योग से ही होगा. योग करने से शारीरिक व मानसिक अनेकों फायदे होते हैं. यह हम पंचतत्वों से बने मनुष्य को प्रकृति से जोड़ता है.

योग को ‘अंतरराष्ट्रीय’ रूप से मनाने का प्रस्ताव भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने संयुक्त राष्ट्र संघ के सामने रखा था. इस तरह 21 जून के  दिन को योगदिवस के रूप में मनाने के प्रस्ताव को इतने कम दिनों में मंजूरी मिलने वाला यह पहला प्रस्ताव बन गया.

आइए हम भी जानें कि योग से हम क्या-क्या लाभ पा सकते हैं :

  • नियमित योग करने से शरीर के सभी अंग सुचारु रूप से कार्य करते हैं .
  • योग के विभिन्न आसनों से शरीर के अलग-अलग हिस्सों को फायदा पहुंचता है. योग में शरीर के हर छोटे से छोटे अंग का व्यायाम होता है. और आपका शरीर लचीला बनता है या कह लें कि शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती है.
  • जहाँ जिम आदि से शरीर के किसी खास अंग का ही व्यायाम होता है. वहीँ योग से शरीर के समस्त अंग प्रत्यंगों,ग्रंथियों का व्यायाम होता है. जिससे अंग प्रत्यंग सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं.
  • योगाभ्यास से रोगों से लड़ने की शक्ति बढती है. बुढ़ापे में भी जवान बने रह सकते हैं त्वचा पर चमक आती है शरीर स्वस्थ,निरोग और बलवान बनता है .
  • योग से ब्लड शुगर का लेवल घटता है. डायबिटीज रोगियों के लिए योग बेहद फायदेमंद है .
  • कुछ अध्यनों में पाया गया है कि कुछ योगासनो और मैडिटेशन के द्वारा आर्थराइटिस, बैक पेन आदि दर्द में काफी सुधार होता है. और दवा की ज़रुरत कम हो जाती है.
  • योग शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है और दवाओं पर आपकी निर्भरता को घटता है. बहुत सी स्टडीज में साबित हो चुका है कि अस्थमा, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज के मरीज योग द्वारा पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुके हैं .

संक्षेप में कहें तो योग केवल शारीरिक व्यायाम करने या रोगों को दूर करने वाली क्रिया नहीं है बल्कि जीवन को बेहतर बनाने वाली एक जीवन पद्यति है.