यह हो सकते हैं डेंगू के 5 लक्षण, ज़रूर लें डॉक्टर की सलाह

बीमारी चाहे कोई भी हो अगर उसे शुरुआती स्तर पर ही पहचानकर इलाज कर लिया जाए तो इसे गंभीर होने से रोका जा सकता है। वैसे भी आज के समय में कोई भी बीमारी बहुत खतरनाक हो गई है, ऐसे में इन्हें नज़रअंदाज़ करना बहुत हानिकारक हो सकता है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे डेंगू के प्रारंभिक लक्षणों के बारे में…

आपको बुखार होना-
बदलते मौसम में बीमार होना या बुखार होना आम बात है। लेकिन ऐसे इस उस वक्त काफी काम बुखार और हल्का बदन दर्द रहता है। जबकि डेंगू होने पर अचानक और बहुत तेज़ बुखार होता है।डेंगू के दौरान आपको शरीर में बहुत दर्द होगा, साथ ही बहुत थका हुआ और कमज़ोर महसूस होता है। साथ ही तेज़ ठंड भी लगती है। डेंगू होने पर शुरुआती स्तर पर ही फीवर 100 से 102 डिग्री के बीच होता है। 

आंखों के पीछे तेज़ दर्द होना-
डेंगू में बुखार होने के साथ आंखों के पीछे की तरफ दर्द भी होता है। इस दौरान रोगी को आंखें खोलने में भी दिक्कत होती है। क्योंकि आंखों में लगातार भारीपन, थकान और दर्द होता रहता है।बहुत कोशिश के बाद भी रोगी मात्र कुछ सेकंड्स के लिए आंखें खोल पाता है। 

सिर में दर्द रहना-
डेंगू के दौरान होने वाला सिरदर्द सामान्य दर्द से काफी अलग होता है। इस दर्द के दौरान सिर में किसी एक स्थान पर लगातार झटका सा अनुभव होता रहता है,जैसे कोई चोट कर रहा हो।

मितली आना-
डेंगू के दौरान मितली की समस्या भी होती रहती है। इस कारण कई बार पेट दर्द होता है और उल्टियां भी हो सकती हैं। इन स्थितियों में किसी भी तरह की लापरवाही जान के लिए खतरा पैदा कर सकती है। इसलिए डॉक्टर के सुझाई गई दवाओं को लें। 

स्किन पर रैशेस होना-
डेंगू के दौरान शरीर पर रैशेस दिखने लगते हैं। ये रैशेज सपाट (फ्लैट) और लाल रंग के होते हैं। इनमें कभी कभी खुजली भी होती है। यह रैशेस बुखार शुरू होने के 2 से 3 दिन के बाद दिखने लगते हैं।