This is how asthma patients should take care of themselves in winter

-सीमा कुमार 

सर्दियों में जैसे-जैसे ठंड बढ़ती है वैसे अस्थमा के मरीजों के लिए समस्याएं बढ़ जाती है। क्योंकि उन्हें सांस लेने में अधिक परेशानी होती है। दरअसल ठंड के कारण अस्थमा के मरीजों की सांस नली सिकुड़ने या सूजन की शिकायत होने के साथ सूखी कफ की परेशानी बढ़ती है अस्थमा मरीजों को खासकर सर्दियों में अपना विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। इस तरह अस्थमा मरीज ठंड में अपना बेहतर तरीके से बचाव कर सकते हैं।

  • पीपल के पत्तों को सूखा कर जला लें । इसके बाद इसें छान इसमें शहद मिलाएं दिन में 3 बार इसे चाटने से अस्थमा की समस्या कुछ समय में ही दूर हो जाएगी।
  • सूखी अंजीर के कुछ दाने रात को पानी में भिगो दें। सुबह खाली पेट इसे पीसकर खाने से अस्थमा के मरीज को आराम मिलेगा।
  • सोंठ, सेंधा नमक, जीरा, भुनी हुई हींग और तुलसी के पत्ते को पीसकर 100 मि. लीटर पानी में उबाल लें। इसे पीने से अस्थमा की समस्या दूर हो जाएगी।
  • बड़ी इलायची, खजूर और अंगूर को सामान मात्रा में पीसकर शहद से साथ खाएं । इसका सेवन अस्थमा के साथ पुरानी खांसी को भी दूर करता है।
  • अस्थमा मरीज को ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़े पहनने के साथ अच्छे से शरीर को ढक कर रहनी चाहिए।इसके अलावा खाने में भी सूप, ड्राई फ्रूट्स, हरी सब्जियां आदि गर्म चीजों का सेवन करना चाहिए। ताकि शरीर में गर्माहट बनी रहे।
  • सर्दियो में अस्थमा के रोगियों को सांस लेने में दिक्कत होती है क्योकि सर्दियो में।वातावरण में ऑक्सीजन की कमी रहती है इसलिए इन लोगों को कम से कम या जरूरत होने पर ही घर से बाहर  जाना चाहिए।
  • पालक और गाजर के रस को मिलाकर रोजाना पीने से भी अस्थमा की समस्या दूर होती है।

नोट- इन सब नुस्खे से अगर आराम नहीं होती है तो डॉक्टर से जरूर सम्पर्क करे।