MESTA announces 25% cut in school fees for current academic year
File

    नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) सरकार ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) को बताया कि, उसने राज्य की 12 वीं बोर्ड की परीक्षा (12th Board Exams) रद्द कर दी है और आंतरिक मूल्यांकन के बाद 31 जुलाई को परिणाम की घोषणा की जाएगी। आंध्र प्रदेश की तरफ से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी की पीठ को बताया कि, उन्होंने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी से मामले पर चर्चा की और राज्य सरकार ने परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया है।

    शीर्ष अदालत ने बृहस्पतिवार को आंध्र प्रदेश सरकार से कहा था कि वह 12 वीं की बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के लिए राज्य द्वारा सुझाए गए एहतियाती उपायों से सहमत नहीं है और कहा था जब तक संतुष्ट न हों कि कोविड-19 के कारण कोई मृत्यु नहीं होगी, वह उन्हें अनुमति नहीं देगी। पीठ एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें राज्य सरकार को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाएं आयोजित नहीं करने के लिए निर्देश देने का अनुरोध किया गया।

    वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए शुक्रवार को सुनवाई होने पर दवे ने पीठ से कहा, ‘‘मामले पर विचार करते हुए और जिस तरह हालात में सुधार हुआ है, उसके अनुरूप हमने परीक्षाओं के लिए पूरी तैयारियां कर ली थी….लेकिन अदालत की भावना पर गौर करते हुए मैंने मुख्यमंत्री से कल चर्चा की और उन्हें सलाह दी। उन्होंने परीक्षा रद्द करने का फैसला किया है। ” दवे ने कहा कि 10 दिन में उच्चाधिकार प्राप्त समिति मूल्यांकन कार्यक्रम निर्धारित करेगी।

    उन्होंने कहा, ‘‘हम 31 जुलाई की समय सीमा का पालन करेंगे और नतीजे घोषित करेंगे।” साथ ही कहा कि अगर परीक्षाएं आयोजित होती तो अगस्त में नतीजे घोषित कर दिए जाते। दवे ने कहा कि पूरा देश एक दिशा में जा रहा है तो आंध्र प्रदेश राज्य भी उसी मार्ग का अनुसरण करेगा। दवे ने कहा कि पीठ का निर्णय सही है और ‘‘अगर कुछ अप्रत्याशित घटनाक्रम होता है तो इससे हमारा दिल दुखेगा।”

    दवे ने चुनावी रैलियों और उत्तराखंड में कुंभ मेला का हवाला देते हुए कहा कि किसी ने भी जिम्मेदारी नहीं ली और आम लोगों को कोविड-19 महामारी के दौरान इसका परिणाम भुगतना पड़ा। पीठ को बताया गया कि राज्य बोर्ड परीक्षा को रद्द करने के संबंध में जल्द ही एक अधिसूचना जारी की जाएगी। शीर्ष अदालत ने कहा कि उसने बृहस्पतिवार को अपने निर्देश में दोहराया था कि सभी राज्य बोर्ड 31 जुलाई तक कक्षा 12 वीं के आंतरिक मूल्यांकन के नतीजे घोषित कर देंगे। (एजेंसी)