66 Indian laborers found corona positive in Sri Lanka, treatment continues
File

नयी दिल्ली. दुनिया की एक बड़ी आबादी को संक्रमित कर चुके कोविड-19 के भारत में बुधवार को, अब तक के एक दिन में सर्वाधिक 15,413 मामले सामने आए। वहीं, पश्चिम बंगाल में इस महामारी को और अधिक फैलने से रोकने की कोशिश के तहत लॉकडाउन की अवधि 31 जुलाई तक बढ़ा दी गई। देश में 14,000 से अधिक व्यक्तियों को मौत की नींद सुला चुकी इस महामारी से निपटने के लिए, कोरोना वायरस से संबंधित जांच के दायरे को बढ़ाते हुए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा है कि अब देश भर में कोविड-19 के लक्षण वाले हर व्यक्ति के लिए जांच सुविधा व्यापक स्तर पर उपलब्ध कराई जाएगी। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को और 3,788 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के साथ ही दिल्ली में कोविड-19 के मामले बढ़ कर 70,000 के आंकड़े को पार कर गए, जबकि शहर में अभी तक इस संक्रमण से 2,365 लोग की मौत हुई है। इसी के साथ दिल्ली इस वायरस से बुरी तरह प्रभावित मुम्बई से आगे निकल गयी।

मुम्बई में मंगलवार तक कोविड-19 संक्रमण के कुल मामले 68,410 थे। मंगलवार को दिल्ली में एक दिन में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा 3,947 नए मामले सामने आए थे। शुक्रवार-शनिवार से राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के 3000 या उससे अधिक नये मामले रोज आ रहे हैं। सोमवार को 2909 नये मामले सामने आये थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि वह कोविड-19 के प्रत्येक रोगी की सरकारी अस्पताल में अनिवार्य रूप से जांच कराने संबंधी अपने नए आदेश को वापस ले ले। उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की स्थिति अभी ‘गंभीर नहीं” है। इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में जारी लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाने की घोषणा कर दी, ताकि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। पश्चिम बंगाल में फिलहाल जारी लॉकडाउन 30 जून को समाप्त होने वाला था। राज्य में आज कोरोना वायरस से 11 और मरीजों की मौत होने के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़ कर 591 हो गया। साथ ही 445 और लोग संक्रमित पाए गए, जिसके बाद मरीजों की कुल संख्या 15,000 के करीब पहुंच गई।

राज्यों से मिले आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, आंध्रप्रदेश और कर्नाटक में कोविड-19 के मामले, जहां 10,000 से अधिक हो गए, वहीं तेलंगाना में यह संख्या 10,000 के करीब पहुंच गई। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने देश में कोविड-19 की जांच के लिए अब तक 1,000 प्रयोगशालाओं को अनुमति दी है। वर्तमान में प्रतिदिन तीन लाख नमूनों की जांच हो सकती है। आईसीएमआर ने बताया, ‘‘23 जून तक कुल 73,52,911 नमूनों की जांच की गई जिनमें से 2,15,195 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई।” केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार को की गई 2,15,195 नमूनों की जांच में से 1,71,587 नमूनों की जांच सरकारी प्रयोगशालाओं में की गई, जबकि 43,608 की जांच निजी प्रयोगशालाओं में की गई। जांच के लिए कुल 1,000 प्रयोगशाला में 730 सरकारी हैं और 270 निजी क्षेत्र की हैं । इसमें आरटी-पीसीआर लैब (557), ट्रूनेट लैब (363) और सीबीएनएएटी लैब (80) भी शामिल हैं । महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 के 3,890 नये मामले सामने आये, जिससे राज्य में इसके कुल मामले बढ़कर 1,42,900 हो गए। इस वायरस से 208 लोगों की मौत होने से राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 6,739 हो गई। मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के आज 1,144 नए मामले सामने आए, जिसके साथ कुल संक्रमितों की संख्या बुधवार को 69,625 हो गई। वहीं 38 लोगों की मौत के बाद कुल मृतकों की संख्या 3,962 पहुंच गई।

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के अनुसार पिछले 24 घंटे में 2,434 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिली है, जो कि जून में एक दिन में संक्रमण मुक्त होने वाली यह दूसरी बड़ी संख्या है। मुंबई में एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी में आज कोविड-19 के 10 नए मामले सामने आने के साथ यहां संक्रमण के कुल 2,199 मामले हो गए हैं। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से आज 10 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 375 हो गई है। इसके साथ ही संक्रमण के 382 नये मामले सामने आने से राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 16,009 हो गयी है। बिहार में आज कोविड-19 के 206 नये मामले आने से संक्रमित लोगों की संख्या 8180 हो गयी है। राज्य में संक्रमण से 55 लोगों की मौत हुई है । संक्रमण के सबसे ज्यादा पटना में 485, मधुबनी में 394, भागलपुर में 377 मामले आए हैं । बिहार में अबतक 1,75,103 नमूनों की जांच की जा चुकी है और 6106 मरीज इस रोग से उबर चुके हैं। उत्तरप्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण से आठ और मरीजों की मौत के बाद इस बीमारी से मरने वालो की संख्या 596 हो गयी है । राज्य के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, ” प्रदेश में वर्तमान में संक्रमण के 6375 मामले हैं। जबकि, 12586 कोरोना मरीज इस रोग से उबर गये और उन्हें अस्पताल से छुटटी दे दी गयी।”

उन्होंने बताया कि प्रदेश में संक्रमण के 700 नए मामले आए हैं। प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 19,557 है। कर्नाटक में कोरोना वायरस के मामले 10 हजार के पार चले गए हैं। राज्य में आज 397 नए मामलों की पुष्टि हुई तथा 14 और मरीजों ने दम तोड़ दिया। इसके बाद मृतकों की संख्या 164 हो गई है। इसके अलावा, दिन में 149 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। जम्मू-कश्मीर में आज कोरोना वायरस संक्रमण के 186 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 6,422 हो गई । नये मरीजों में 10 पुलिसकर्मी और तीन सीआरपीएफ कर्मी हैं। 28 नए मामले जम्मू से और 158 कश्मीर से सामने आए हैं। जम्मू कश्मीर में फिलहाल 2,516 मरीज उपचाराधीन हैं, जबकि कुल 3,818 लोग ठीक हो चुके हैं। लद्दाख में बुधवार को कोरोना वायरस का नया मामले सामने नहीं आया और इस खतरनाक वायरस से संक्रमित जिन 126 मरीजों का अस्पतालों में इलाज चल रहा था, उन्हें छुट्टी दे दी गई।

ओडिशा में आज कोरोना वायरस के 282 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 5,752 हो गए। इस बीच राज्य सरकार ने कहा कि उसने सेवादारों, पुलिसकर्मियों और नगरनिगम कर्मियों समेत भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा से जुड़े 5000 लोगों की कोविड-19 जांच कराने का अभियान शुरू किया है। इसके अलावा भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने 27 व्यक्तियों के संक्रमित हो जाने के बाद एक निजी अस्पताल को कोविड-19 दिशानिर्देशों के उल्लंघन को लेकर सील कर दिया। गुजरात में आज कोविड-19 के 572 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 29,001 हो गई। राज्य में 25 और लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हो गई जिसके बाद मृतकों की संख्या 1,736 तक पहुंच गई। अकेले अहमदाबाद में ही संक्रमितों की संख्या 19,601 पहुंच गई। कुल 15 लोगों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर यहां 1,378 हो गया। मध्यप्रदेश में संक्रमण के 187 नए मामले सामने आए। इस तरह प्रदेश में कोविड-19 से अब तक संक्रमित पाये गये लोगों की संख्या 12,448 हो गयी है। राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से नौ और व्यक्तियों की मौत की पुष्टि हुई है जिससे मरने वालों की संख्या 534 हो गयी है। केरल में कोरोना वायरस के अब तक एक दिन में सर्वाधिक 152 मामले आज सामने आए, जिन्हें मिला कर राज्य में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 3,603 हो गई। राज्य में लगातार छठे दिन कोविड-19 के 100 से अधिक मामले सामने आए हैं। सिक्किम में चार और लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद कुल मामले 83 पर पहुंच गए हैं। नगालैंड में आज 17 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। इसके बाद राज्य में कुल मामले 347 हो गए हैं। त्रिपुरा में संक्रमण के 23 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,264 पर पहुंच गए हैं। उत्तराखंड में आज कोरोना वायरस से पांच मरीजों की मौत हो गयी जबकि 33 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि होने से महामारी से संक्रमितों की संख्या 2568 हो गयी ।

मिजोरम में दो महिलाओं समेत तीन और मरीजों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद प्रदेश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 145 हो गई है। आंध्र प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के 497 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 10,000 से अधिक हो गयी। राज्य में कोरोना वायरस के पहले 5,000 मामले करीब तीन महीने में सामने आए जबकि अगले 5,000 मामले सिर्फ 15 दिनों में ही सामने आ गए। पहला मामला मार्च महीने में आया था। पुडुचेरी में पिछले चौबीस घंटे में कोविड-19 के 59 नए मामले सामने आए जिसके बाद संघ शासित क्षेत्र में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 461 हो गए। मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा ने कहा कि कोविड-19 के चार और मरीज ठीक होने के बाद राज्य में ठीक हुए कुल मरीजों की संख्या 41 हो गई है। सिक्किम में चार और व्यक्तियों की जांच में कोविड-19 की पुष्टि हुई जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 83 हो गई। इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने जानकारी दी कि देश में मंगलवार तक सामने आए कोविड-19 के चार लाख 40 हजार मामलों में से सिर्फ 15.34 प्रतिशत मरीजों को आईसीयू देखभाल की जरूरत पड़ी, 15.89 प्रतिशत को ऑक्सीजन देना पड़ा जबकि 4.16 प्रतिशत को वेंटिलेटर पर रखना पड़ा।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण के दोगुने होने की दर में भी सुधार हुआ है। यह दर 12 जून को 17.4 दिन थी जबकि बीते तीन दिनों में यह 19.7 दिन हो गई है। दिल्ली में कोविड-19 प्रभावित क्षेत्रों में निगरानी का दायरा बढ़ाने और संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने के लिए अधिकारियों ने आरोग्य सेतु एप्प को सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) आधारित एक अन्य प्रणाली के साथ जोड़ने की योजना बनाई है। यह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुझावों के अनुसार दिल्ली सरकार द्वारा कोविड-19 से मुकाबले के लिए बनाई गई एक योजना का हिस्सा है। आज ही भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने दिल्ली में 10,000 से अधिक बिस्तरों की क्षमता वाले कोविड-19 केंद्र की देखरेख का जिम्मा संभाल लिया। आईटीबीपी के अधिकारियों के एक दल ने राधा स्वामी ब्यास केंद्र का दौरा किया और दिल्ली सरकार तथा अन्य पक्षकारों के साथ चर्चा की जो इस केंद्र को चलाने में साझेदार होंगे। गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा था कि इस केंद्र का जिम्मा आईटीबीपी को सौंपा गया है। (एजेंसी)