Air India aircraft returned after takeoff from Delhi to Newark, bat found in flight

    नयी दिल्ली. देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Second Wave of Coronavirus) के प्रकोप के दौरान मई में एयर इंडिया (Air India), इंडिगो (Indigo) और विस्तार एयरलाइन (Vistara Airlines) के कुल 17 पायलटों (Pilots Death) की महामारी के कारण मौत हो गई। सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। विमानन क्षेत्र के सूत्रों ने बताया कि इंडिगो के 10 और विस्तार के दो पायलटों की मौत हुई है। एयर इंडिया के अधिकारियों ने बताया कि उसके पांच वरिष्ठ पायलटों की कोविड के कारण मौत हुई है जिनमें कैप्टन हर्ष तिवारी, कैप्टन जीपीएस गिल, कैप्टन प्रसाद कर्माकर, कैप्टन संदीप राणा और कैप्टन अमितेश प्रसाद शामिल हैं। एयर इंडिया और विस्तार ने इस मामले में पीटीआई-भाषा के सवालों का जवाब नहीं दिया।

    इंडिगो ने पायलटों की मौत पर कुछ नहीं कहा। मगर कंपनी ने कहा कि कुल 35,000 पात्र कर्मचारियों में से लगभग 20,000 कर्मचारियों को टीके की पहली खुराक दी है। पीटीआई-भाषा को भेजे बयान में इंडियो के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और मानव संसाधन के प्रमुख राज राघवन ने कहा कि वे जून के मध्य तक सभी कर्मचारियों को टीका लगाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

    सूत्रों ने बताया कि इंडिगो के पास एक मजबूत कल्याण योजना और परोपकारी नीति है और हर मृत पायलट के परिवार को पांच करोड़ रुपये मिलेंगे। उन्होंने कहा कि महामारी की पहली लहर में इंडिगो के चंद पायलट संक्रमित हुए थे जबकि दूसरी लहर में लगभग 450 पायलट कोविड से बीमार पड़े। विस्तार और एयरएशिया इंडिया जैसी निजी विमानन कंपनियां अब तक अपने क्रमश: 99 और 96 फीसदी पात्र कर्मियों को कोविड-19 टीके की पहली खुराक लगा चुकी हैं।

    जिन लोगों का कोविड-19 का इलाज चल रहा है या जो कोरोना वायरस के संक्रमण से उबर चुके हैं उन्हें टीकाकरण का पात्र नहीं माना जा रहा है। इस बीच, एयर इंडिया ने टीकों की अनुपलब्धता के कारण देरी के बाद 15 मई से अपने कर्मचारियों का टीकाकरण शुरू कर दिया है।

    अधिकारियों ने बताया कि एयर इंडिया ने चार मई को कहा था कि वह अपने सभी कर्मचारियों को महीने के अंत तक कोविड रोधी टीका लगाएगा क्योंकि पायलटों के एक संघ ने प्राथमिकता के आधार पर उड़ान चालक दल के सदस्यों के टीकाकरण की मांग की थी। छह दिन बाद, कंपनी ने अपने कर्मचारियों को बताया था कि वह टीकों की “अनुपलब्धता” के कारण 11 मई और 13 मई को दिल्ली हवाई अड्डे पर उनके लिए कोविड-19 टीकाकरण शिविर आयोजित नहीं कर पाएगी। एयर इंडिया के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि टीकों की अनुपलब्धता के कारण कर्मचारियों के लिए कंपनी का टीकाकरण शिविर 15 मई से शुरू हुआ। (एजेंसी)