Government to speed up Corona virus infection investigation: High Court

नई दिल्ली. व्यास को मार्च 2009 और मई 2009 के बीच लंदन के वाल्थमस्टो क्षेत्र में मिशेल समरवीरा और तीन अन्य महिलाओं के बलात्कार के लिए दोषी ठहराया गया है। इन अपराधों के बढ़ते मामलों के कारण एक विशाल खोज अभियान चलाया गया था। व्यास पर, 35 वर्षीय मिशेल समरवीरा की बलात्कार व हत्या, और गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाने जैसे आरोपों का दोषी ठहराया गया है।

पीड़ितों को के परिवारों, इंसाफ के लिए लंबे समय तक इंतजार करना पड़ा। मेट्रोपॉलिटन पुलिस के डिटेक्टिव सार्जेंट शलेना शेख ने कहा, “अमन व्यास ने वह सब किया जो वह अपने अपराधों को छुपाने के लिए कर सकता था। वह विदेश भाग गया। पीड़ितों की चोटें व्यास के वास्तविक आपराधिक प्रकृति को दर्शाती है।”

अमन व्यास को पहले न्यूजीलैंड और सिंगापुर में ढूंढा गया, जहां उसे खोजने का हर प्रयास व्यर्थ हुआ। अंततः वर्ष 2011 में भारतीय अधिकारियों ने उसे नई दिल्ली में एयरपोर्ट पर   गिरफ्तार कर लिया। सार्जेंट शेख ने बताया, “जांच का व्यापक स्तर भी उल्लेखनीय था। व्यापक मीडिया अपीलें थीं, साथ ही हजारों घरों और व्यवसायों में, व्यक्ति या पत्रक के माध्यम से संपर्क किया गया था।”

शेख ने जांच में मदद करने वालों का धन्यवाद करते हुए संवाददाताओं को बताया, “हजारों लोगों ने स्वेच्छा से डीएनए देने में मदद की। मैं व्यक्तिगत रूप से उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने मदद की, यह इन्हीं व्यापक प्रयासों के से मुमकिन की व्यास सजा मिली।”