एयर इंडिया नीलामी: अब एनआरआई भी लगा सकेगें 100 प्रतिशत बोली

नई दिल्ली: एयर इंडिया में विनिवेश को लेकर सरकार ने बुधवार को बहुत बड़ी घोषणा की हैं. विनिवेश करने के लिए बनाए गए नियमों को ढील देदी हैं. जिसके अनुसार अब कोई भी अनिवासी भारतीय एयर इंडिया में 100

नई दिल्ली: एयर इंडिया में विनिवेश को लेकर सरकार ने बुधवार को बहुत बड़ी घोषणा की हैं. विनिवेश करने के लिए बनाए गए नियमों को ढील देदी हैं. जिसके अनुसार अब कोई भी अनिवासी भारतीय एयर इंडिया में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए निविदा भेज सकता हैं. इसके पहले यह सीमा 49 प्रतिशत थी.  

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षत में बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए. सरकार ने विमान सेवा, बैंकिंग के साथ कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में निर्णय दिए. कैबिनेट बैठक के बाद आयोजित पत्रकार सम्मेलन में केंद्रीय पर्यवरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण यह जानकरी दी.

बैंकों के विलय की मंजूरी 
कैबिनेट बैठक के बाद लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा," सरकार ने 10 सरकारी बैंकों के विलय की मंजूरी देदी हैं. जिसके तहत अब इन सभी बैंकों को मिलकर चार बैंक बनाए जाएगा."

लिए गए निर्णय के अनुसार, पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स  और यूनाइटेड बैंक का विलय होगा. इसी के साथ इंडिया बैंक का विलय इलाहबाद बैंक के साथ होगा. वहीँ कैनरा बैंक के साथ सिंडिकेट बैंक का विलय होगा. आंध्र बैंक और कारपोरेशन बैंक का विलय यूनियन बैंक के साथ किया जाएगा. 

सीतारमण ने कहा, " सरकार के इस निर्णय के वजह से देश में बैंकिंग सेवा और बेहतर होंगी." उन्होंने कहा, " इसके साथ पंजीयन एक्ट में सरकार ने 72 बदलावों की मंजूरी दी हैं. जिससे देश में निवेश और नौकरियां बढ़ेगी." 

एनआरआई कर सकेगें 100 प्रतिशत निवेश
सरकार ने एयर इंडिया में निवेश के लिए बनाए गए निर्णय में र ढील देदी हैं. जिसे तहत अब कोई भी अनिवासी भारतीय 100 प्रतिशत इससे दारी के लिए बोली लगा सकता हैं. केंद्रीय पर्यवरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने निर्णय की जानकारी देते हुए कहा," सरकार ने उस नियम में ढील देदी हैं, जिसके तहत कोई भी एनआरआई अब 100 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए बोली लगा सकता हैं."