अमर सिंह ने मांगी अमिताभ बच्चन से माफ़ी, देखें वीडियो

नई दिल्ली: पूर्व समाजवादी नेता और सांसद अमर सिंह ने सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफ़ी मांगी है. विडियो जारी कर उन्होंने कहा, " जिंदगी के उस मोड़ पर जब जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा

नई दिल्ली: पूर्व समाजवादी नेता और सांसद अमर सिंह ने सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफ़ी मांगी है. विडियो जारी कर उन्होंने कहा, " जिंदगी के उस मोड़ पर जब जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा हूँ तब मुझे उनसे अपने बयान के लिए माफ़ी मांग लेना चाहिए. 

बतादें कि, एक समय गहरे दोस्त रहे अमर सिंह और अमिताभ बच्चन के बीच पिछले कई सालों में गहरे मतभेद होगए थे.  इसका अंदाजा आप इससे लगा सकते है की अमर सिंह ने  अमिताभ बच्चन पर उनसे लिए गए 100 करोड़ रुपए वापस नही करने का आरोप लगाया था. वहीँ जया बच्चन पर निशाना साधते हुए सिंह ने कहा था कि, " जया बच्चन अपने पति को क्यों नहीं समझातीं कि ‘जुम्मा चुम्मा’ न करें. आपने अमिताभ बच्चन को क्यों नहीं समझाया कि बारिश में भीगती नायिका के साथ ऐसे दृश्य देना सही नहीं था."

अमर सिंग पिछले कई दिनों से किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं. उसी के इलाज के लिए वह सिंगापूर के एक अस्पताल में भर्ती हैं. जहाँ उन्होंने एक विडियो फेसबुक पर शेयर किया. जिसमे अमिताभ बच्चन से माफ़ी मागते हुए कहा, " आज के दिन मेरे पिताजी का स्वर्गवास हुआ था. इस तारीख पर पिछले एक दशक से श्री अमिताभ बच्चन जी मेरे पिता जी की श्रद्धा में संदेश भेजते हैं. जब दो व्यक्तियों में बहुत अटूट स्नेह होता है और उसमें कम या अधिक अपेक्षा या उपेक्षाए होती हैं उन संबंधों में बहुत उबाल आता है. बड़ी उग्र प्रतिक्रिया आती है. संबंध जितना अधिक निकट होता है उसके टूट की चुभन भी उतनी तेज होती है.” 

मैंने जो कहा उसके उसका मुझे खेद हैं 
अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफ़ी मागते हुए अमर सिंह ने कहा, "  मैं जिंदगी और मौत की चुनौती से गुजर रहा हूं. मुझे लगता है कि सार्वजनिक रूप से, वे उम्र में मुझसे बड़े हैं उनके प्रति नरमी रखनी चाहिए थी." उन्होंने कहा, "  जो कटु वचन मैंने बोले हैं उनके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए. मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही लेकिन उनके मन में न तो निराशा है और न ही कटुता."

अमिताभ बच्चन ने हमेश अपने कर्तव्य निभाया 
सांसद ने कहा, "  पिछले 10 वर्षों से मैं बच्चन परिवार से न केवल अलग रहा बल्कि मैंने ये भी वह काम भी किए जिसे वजह से उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो. लेकिन उन्होंने आज फिर मेरे पिताजी का सुमिरन करते हुए मुझे संदेश भेजा." उन्होंने कहा, " तो मुझे ऐसा लगा कि, इसी सिंगापुर में गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमित जी दो महीने तक साथ रहे और उसके बाद हमारा और उनका साथ छूट सा गया. दस साल बाद भी उनके मन में किसी भी प्रकार की कटुता नही आई और वह अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे."