ambani-antilia

    नयी दिल्ली. हमारे देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर ‘एंटीलिया’ (Antilia) के पास बीते 25 फरवरी को जिलेटिन युक्त विस्फोटक भरी स्कॉर्पियो (Scorpio) मिलने के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। अब इस खौफनाक साज़िश के तार अब इंडियन मुजाहिद्दीन (Indian Mujahideen) से जुड़ चुके हैं। खबर के अनुसार इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी तहसीन अख्तर (Tahseen Akhtar) से दिल्ली की तिहाड़ जेल में एक फोन बरामद हुआ है।

    कौन है खतरनाक आतंकी तहसीन?

    दरअसल स्पेशल सेल को तिहाड़ में एक सर्च ऑपरेशन के दौरान मोबाइल फ़ोन बरामद हुआ है। बता दें कि इंडियन मुजाहिद्दीन का एक खतरनाक आतंकी तहसीन अख्तर फिलहाल तिहाड़ की जेल नंबर आठ में बंद है। यह भी जान लें तहसीन अख्तर पर बिहार की राजधानी पटना में गांधी मैदान में PM नरेन्द्र मोदी की रैली, हैदराबाद और बोधगया में धमाकों का संगीन आरोप है।

    इसी मोबाइल पर हुआ था टेलीग्राम चैनल एक्टिवेट: 

    स्पेशल सेल ने इस बात का भी खुलासा किया है कि तहसीन के पास बरामद मोबाइल पर ही एक टेलीग्राम चैनल एक्टिवेट किया गया था। इसके बाद टोर ब्राउजर के जरिये डार्क नेट पर एक वर्चुअल नम्बर क्रिएट किया गया फिर उसी से ‘एंटीलिया’ के पास विस्फोटक और बाद में धमकी भरा एक पोस्ट तैयार किया गया। अब आगे के और खुलासे के लिए स्पेशल सेल, तहसीन से सघन पूछताछ करेगी।

    साइबर एजेंसी ने पता किया फोन का लोकेशन:

    इस पर जांच अधिकारी ने बताया कि, पुलिस ने एक निजी साइबर एजेंसी की मदद से उस फोन का लोकेशन पता किया था, जिस पर टेलीग्राम का चैनल बनाया गया था। वहीं पुलिस सूत्रों के मुताबिक बीते 26 फरवरी को टेलीग्राम ऐप पर चैनल शुरू किया गया था और अंबानी के आवास के बाहर गाड़ी लगाने के लिए जिम्मेदारी लेने वाला संदेश बीते 27 फरवरी की रात को ही ऐप पर पोस्ट किया गया था। संदेश में क्रिप्टोकरेंसी में भुगतान करने की एक मांग भी की गयी थी और एक लिंक भी उसमें दे दिया गया था। इसके आगे अधिकारी ने बताया कि, जांच के दौरान पाया गया कि यह लिंक उपलब्ध नहीं था जिसके बाद जांच करने वाले अधिकारियों को संदेह हुआ कि शायद किसी ने कोई शरारत की है।

    गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख अंबानी के के बहुमंजिला निजी आवास ‘एंटीलिया’ के निकट बीते 25 फरवरी की शाम को एक SUV (स्कार्पियो) में करीब 2।5 किलोग्राम जिलेटिन की छड़ें (विस्फोटक सामग्री) बरामद की गयी थी। य्ताब से ही पुलिस, मुंबई क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल मामले की गहन जांच कर रही है।