Delhi: Four people arrested for robbing injection of Rs 2.24 lakh
File Photo

    नई दिल्ली: कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने एक और इंजेक्शन के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। शुक्रवार को डीजीसीआई ने जायडस कैडिला की Pegylated Interferon Alpha-2b, विराफीन को व्यस्क कोरोना संक्रमितों के इलाज में उपयोग की मंजूरी दी है। 

    हेपेटाइटिस बी के लिए इस्तेमाल होता था 

    जायडस कैडिला की बनाई इस इंजेक्शन का इस्तेमाल पहले लिवर की बीमारी हेपेटाइटिस बी के लिए किया जाता था। इसका पूरा नाम  Pegylated Interferon Alpha-2b है। कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद अब इसे कोरोना वायरस के  खिलाफ उपयोग करने का तय किया गया है। इसके लिए देश भर के 25 केंद्रों पर परीक्षण किया गया है। 

    इंजेक्शन लगने के बाद ऑक्सीजन की जरुरत कम 

    कंपनी ने दावा किया है कि, इंजेक्शन लगवाने के बाद कोरोना संक्रमितों को इंजेक्शन लगवाने की जरुरत बेहद कम पड़ती है।