modi

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को एनुअल इन्वेस्ट इंडिया कॉन्फ्रेंस (Annual Invest India Conference) को संबोधित किया. वर्चुअल माध्यम से बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “भारत (India) दुनिया में फार्मेसी की भूमिका निभा रहा है. हमने अब तक लगभग 150 देशों को दवा उपलब्ध कराई है. इस वर्ष मार्च-जून के दौरान हमारे कृषि निर्यात में 23% की वृद्धि हुई. यह तब हुआ जब पूरे देश में लॉकडाउन सख़्ती से लागू था.”

कोरोना के समय देश में समस्या पैदा नहीं दिया 
प्रधानमंत्री ने कहा, “कोरोना के बाद की दुनिया में, आप अक्सर विभिन्न प्रकार की समस्याओं के बारे में सुनते हैं – विनिर्माण की, आपूर्ति श्रृंखला की, पीपीई की, आदि, हालांकि, भारत ने उन समस्याओं को होने नहीं दिया है. हमने लचीलापन दिखाया और समाधान की भूमि के रूप में उभरे.”

भारत की कहानी मजबूत 
पीएम मोदी ने कहा, “आज भारत की कहानी मजबूत है और आने वाला कल इससे भी मजबूत होगा. FDI के लिए कई सुधार किए गए हैं. हमने सॉवरिन वेल्थ और पेंशन फंड के लिए एक अनुकूल टैक्स व्यवस्था बनाई है.” उन्होंने कहा, “भारत ने शिक्षा, श्रम और कृषि के क्षेत्र में रिफॉर्म किए हैं, जिससे लगभग हर भारतीय प्रभावित होगा.”

श्रम और कृषि के क्षेत्र में किए सुधार 
प्रधानमंत्री ने कहा, “भारत ने श्रम और कृषि के क्षेत्र में सुधार सुनिश्चित किए हैं. वे सरकार के सुरक्षा जाल को मजबूत करते हुए निजी क्षेत्र की अधिक भागीदारी सुनिश्चित करते हैं. इन सुधारों से उद्यमियों के साथ-साथ कड़ी मेहनत करने वाले लोगों के लिए भी जीत की स्थिति पैदा होगी.

उन्होंने कहा, “श्रम कानूनों में सुधार श्रम कोडों की संख्या को बहुत कम कर देते हैं. वे दोनों कर्मचारी और नियोक्ता के अनुकूल हैं और व्यापार करने में आसानी को बढ़ाएंगे.”

भारत-कनाडा के संबंध लोकतांत्रिक मूल्यों से प्रेरित 
पीएम ने कहा, “भारत-कनाडा द्विपक्षीय संबंध हमारे साझा लोकतांत्रिक मूल्यों और कई साझा हितों से प्रेरित हैं. हमारे बीच व्यापार और निवेश संबंध हमारे बहुआयामी संबंधों के अभिन्न अंग हैं.”