voting

    गुवाहाटी. असम (Assam) में विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Election) के पहले चरण में 47 सीटों के लिए शनिवार सुबह शुरू हुए मतदान (Voting) में सुबह 11 बजे तक 81.09 लाख मतदाताओं में से अनुमानित तौर पर 25.88 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य में पहले चरण के मतदान में कोविड-19 संबंधी नियमों के सख्ती से पालन पर जोर दिया जा रहा है। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि अभी तक मतदान शांतिपूर्ण है और ईवीएम में गड़बड़ी की कुछ शिकायतें आयी हैं।

    मतदान केंद्रों के बाहर लंबी कतारें देखी गई। मतदाता और निर्वाचन अधिकारी कोविड-19 संबंधी नियमों का पालन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सुबह 11 बजे साहित्य सभा भवन में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। यह ऊपरी असम के डिब्रूगढ़ में उनके गृह नगर का आदर्श मतदान केंद्र है। उन्होंने वोट डालने के बाद कहा, “ भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगी फिर से जीतेंगे और असम की सत्ता में बरकरार रहेंगे। लोगों ने पिछले पांच साल में हमारे प्रदर्शन को देखा है।”

    इसके बाद मुख्यमंत्री अपनी सीट मजुली के लिए रवाना हो गए जहां मतदान चल रहा है। अधिकारी ने बताया कि पूर्वोत्तर राज्य में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और मतदान के समय को कोविड प्रोटोकॉल की वजह से एक घंटे के लिए बढ़ा दिया गया। इस चरण में मुख्यमंत्री सोनोवाल, विधानसभा अध्यक्ष हितेंद्रनाथ गोस्वामी, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख रिपुन बोरा समेत कई मंत्रियों और नेताओं की राजनीतिक किस्मत का फैसला होगा। कई मतदान केंद्रों पर पहले मतदाता का स्वागत पौधा और ‘गमोसा’ (असम का पारपंरिक गम्छा) देकर दिया गया।

    महिला अधिकारी 479 मतदान केंद्रों पर वशिष्ट रूप से मतदान कार्य संपन्न करा रही हैं। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 23 महिलाओं सहित कुल 264 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले चरण में सुरक्षा बलों की कुल 300 कंपनियों को तैनात किया गया है, जिसमें लोग ऊपरी असम और ब्रह्मपुत्र के उत्तरी तटीय 12 जिलों में 11,537 मतदान केंद्रों पर मतदान कर रहे हैं।