Assam activist Akhil Gogoi

    सेलेनघाट/गुवाहाटी: अपने बेटे और बीमार मां से मिलने के लिए 48 घंटे के पेरोल पर बाहर आये निर्दलीय विधायक अखिल गोगोई को पेरोल की अवधि खत्म होने पर रविवार शाम को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया। गोगोई को भारी सुरक्षा घेरे में जोरहाट जिला के सेलेनघाट में उनके पैतृक गांव से सीधा गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) ले जाया गया। 

    विधायक शुक्रवार रात से पेरोल पर थे। गुवाहाटी में विशेष एनआईए (राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण) अदालत ने उन्हें राजधानी गुवाहाटी में अपने बेटे और जोरहाट में अपनी मां से मिलने के लिए पेरोल की इजाजत दी थी। करीब दो साल के अंतराल के बाद अपने पैतृक घर पहुंचने के बारे में गोगोई ने कहा, ‘‘मैंने रात मां के साथ बिताया। रात में ज्यादातर समय बिजली नहीं थी। इसलिए थोड़ी दिक्कत हुई।” 

    रायजोर दल के अध्यक्ष गोगोई ने रविवार सुबह अपने घर के अहाते में स्थानीय लोगों से बात की। रायजोर दल के प्रमुख 12 दिसंबर, 2019 से जेल में हैं। उन्हें नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के विरोध में आंदोलन के जोर पकड़ने के दौरान कानून और व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के मद्देनजर गिरफ्तार किया गया था। (एजेंसी)