baba-gaurav
Pic: Gaurav Vasan

    नयी दिल्ली. अब तक आप सभी ने दिल्ली के ‘बाबा के ढाबा’ (Baba ka dhaba) के बारे में तो सब सुना ही होगा। इस ढाबा के मालिक बुजुर्ग कांताप्रसाद और उनकी पत्नी ने बीते 8 महीने में फर्श से अर्श तक का सफर तय तो किया, लेकिन अब वापस जमीन पर आ गए। जहाँ  यू-ट्यूबर गौरव वासन के एक वायरल वीडियो ने ‘बाबा के ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद (Kanta Prasad) की जिंदगी बदल दी थी जो कि मालवीय नगर इलाके में सड़क किनारे अपना ढाबा चलाते हैं। लेकी अब इस कहानी में तमाम नए ट्विस्ट आ गए हैं।

    सब हुआ ठीक :

    दरअसल ‘बाबा के ढाबा’ को जिस यूट्यूबर गौरव वासन (Gaurav Vasan) ने दुनियाभर में नाम और पहचान दिलाई थी, उन्ही  कांता प्रसाद के साथ अब उनकेरिश्ते सुधर चुके हैं। गौरव ने बाबा के माफी मांगने के बाद बीते सोमवार को उनके ढाबे पर जाकर कांता प्रसाद से मुलाकात की और यह भी कहा कि, “अब हम दोनों के बीच पहले जैसे संबंध हो गए हैं और हमारे बीच कोई परेशानी नहीं है।”

    Courtsey: Yuvraj Pratap Rao

    गौरतलब है कि कांता प्रसाद ने इससे पहले एक वीडियो में बाकायदा गौरव वासन से माफी तक मांगी थी। इस वायरल हो रहे वीडियो में बाबा कांता प्रसाद हाथ जोड़े  खड़े नजर आ रहे हैं। इसे देखने के बाद ही गौरव वासन भी अपना बड़ा दिल दिखाते हुए उनसे मिलने पहुंचे और उनका हाल-चाल जाना। दोनों के बीच आत्मीय मुलाकात के बाद गौरव ने कहा कि गलती करने वाले से बड़ा हमेशा गलती को माफ करने वाला होता है, मेरे माता-पिता ने मुझे यही सीख दी है। अब मेरे और बाबा के बीच कोई गलतफहमी नहीं है।”

    Courtsey: Sanskaari Ladka

    गौरव से मिल फूट-फूट कर रोए बाबा :

    बता दें की जब बीते सोमवार गौरव वासन बाबा से मिलने उनके ढाबे पर पहुंचे तो कांता प्रसाद की आंखों में आंसुओं का सैलाब भर आया था। दोनों ही मिलकर फूट-फूट कर रोने लगे क्योंकि बाबा को अब अपनी गलती का अहसास हो चुका था। तभी बाबा ने कहा कि, “अगर गौरव न होता तो आज हमें कोई नहीं जानता, इसी ने ही मुझे और मेरे ढाबे को पहचान दिलाई है और मैं इसके लिए जान भी दे सकता हूं।” इसके बाद मारे भावुकता के कांता प्रसाद, गौरव के पैर तक पड़ने लगे, इस पर इस नेकदिल यूट्यूबर ने उन्हें रोकते हुए कहा कि, “आप मुझसे बड़े हैं और हमेशा से आपका सम्मान करता हूं।”

    क्या है गौरव और बाबा की कहानी :

    हुआ यूँ कि इनका वीडियो वायरल होने के बाद इनकी भी किस्मत खुल गई थी। इधर इनका वीडियो ट्विटर पर टॉप ट्रेंड कर रहा था और वहीं इसके फलस्वरूप लोग उनके ढाबे पर खाना खाने के लिए लाइन भी लगाने लगे थे। वहीं इन लोगों इसके अलावा  अलावा उन्हें बहुत सी जगहों पर आर्थिक मदद भी मिली थी। हालाँकि वह और बात है कि कांता प्रसाद को जिस यू-ट्यूबर गौरव वासन ने लोगों के बीच मशहूर किया था, उसी के खिलाफ बाद में उन्होंने दिल्ली की मालवीय नगर पुलिस ने IPCकी धारा 420 के तहत FIR दर्ज करवाया था।

    दरअसल दिल्ली पुलिस ने बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद की शिकायत के बाद जांच की और गौरव वासन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। दरअसल कांता प्रसाद ने आरोप लगाया था कि गौरव वासन ने उससे संपर्क किया और अपने व्यवसाय को बढ़ावा देने के मकसद से उनके साथ एक वीडियो शूट किया। आरोप है गौरव वासन ने अपने ऑफिशियल अकाउंट से वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया और जनता से अनुरोध किया कि वह कांता प्रसाद को वित्तीय मदद करने के लिए पैसे दान करें।

    बाद में इसी  दान के पैसों में गौरव ने छेड़छाड़ की और कुछ पैसे हथिया लिए। लेकिन बाद में यह मामला रफा दफा हो गया। इधर मिले पैसों से कांता प्रसाद (Kanta Prasad) ने रेस्टोरेंट भी खोला था। लेकिन अब वह रेस्टोरेंट लॉकडाउन की वजह से बंद हो गया है। जिसके कारण अब वह अपनी पुरानी जगह वापस लौट आए हैं।