Babri demolition case: CBI court will give its verdict today | बाबरी ध्वंस मामला: अडवाणी, उमा और जोशी समेत सभी 32 आरोपी बरी | Navabharat (नवभारत)
ट्रेंडिंग टॉपिक्स
ब्रैकिंग न्यूज़
लाईव ब्लॉग
अंतिम अपडेटSeptember, 30 2020

बाबरी ध्वंस मामला: अडवाणी, उमा और जोशी समेत सभी 32 आरोपी बरी

ऑटो अपडेट
द्वारा- Rahul Goswami
कंटेन्ट राइटर
12:34 PMSep 30, 2020

अशोक सिंघल के खिलाफ भी कोई ठोंस साक्ष्य नहीं

आज फैसला सुनाते हुए जज एसके यादव ने यह  भी कहा कि VHP नेता अशोक सिंघल के खिलाफ भी  कोई साक्ष्य नहीं हैं।फैसले में कहा यह भी कहा  गया है कि फोटो, वीडियो, फोटोकॉपी में जिस तरह से सबूत दिए गए हैं, उनसे कुछ साबित नहीं होता है। 

12:31 PMSep 30, 2020

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सभी आरोपी बरी

आज बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में अदालत ने अपना फैसला दे दिया है । 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में जो हुआ उस पर सीबीआई की विशेष अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुनाया। अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, एमपी की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, बीजेपी के सीनियर नेता विनय कटियार समेत कुल 32 आरोपियों को बरी कर दिया है।

12:27 PMSep 30, 2020

जज: घटना पूर्व नियोजित नहीं

आज अपना फैसला पढ़ते हुए जज एसके यादव ने कहा गया कि ये घटना पूर्व नियोजित नहीं थी, संगठन के द्वारा कई बार रोकने का प्रयास किया गया। जज ने अपने शुरुआती कमेंट में कहा कि ये घटना अचानक ही हुई थी।

12:26 PMSep 30, 2020

लालकृष्ण आडवाणी अपने घर से सुन रहे फैसला

खबर के अनुसार  भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी अपने घर पर बैठकर ही इस फैसले को देख रहे हैं। वो अदालत में इस समय मौजूद भी नहीं हैं।

12:24 PMSep 30, 2020

जज ने फैसला पढना शुरू किया

खबर के अनुसार  अदालत में स्पेशल जज एसके यादव ने अपना फैसला पढ़ना शुरू कर दिया है। शुरुआत में पूरे मामले की ब्रीफिंग उन्हें की जा रही है। 

12:18 PMSep 30, 2020

जज ने फैसले का प्रीफेस पढ़ना शुरू किया 

जज ने फैसले का प्रीफेस पढ़ना शुरू किया 

12:15 PMSep 30, 2020

LK आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होंगे

लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, सतीश प्रधान और महंत नृत्य गोपाल दास वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होंगे, कोर्ट बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कुछ देर में फैसला सुनाएगा।

11:47 AMSep 30, 2020

स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव आज होंगे रिटायर

ख़बरों के मुताबिक  केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव आज इस मामले में फैसला सुनाने के साथ ही अपने पद से रिटायर हो जाएंगे। 

11:36 AMSep 30, 2020

कुछ देर कोर्ट की सुनवाई होगी शुरू

बस कुछ चंद मिनटों के बाद अदालत की सुनवाई शुरू हो जाएगी। कोर्ट रूम में जज के ठीक सामने पहली पंक्ति में साक्षी महाराज, वेंदाती महाराज, विनय कटियार और अन्य लोग बैठे हैं। जज अपने चेंबर में हैं और जल्द ही कोर्ट रूम में आएंगे।

11:26 AMSep 30, 2020

पूर्व CM कल्याण सिंह गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल में है भर्ती

बता दें कि उत्तर प्रदेश के पूर्व CM कल्याण सिंह गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल के कोविड-19 के अपने निजी रूम में सुबह से टीवी देख रहे हैं। 16 तारीख से कोविड-19 के चलते कौशांबी के यशोदा अस्पताल में एडमिट हैं। अस्पताल के मुताबिक फिलहाल उनकी हालत में काफी सुधार हुआ है।

Load More

लखनऊ. बाबरी विध्वंस मामले में आज फैसला होने को है । 6 दिसंबर 1992 को जो भी वहां हुआ उस पर CBI की विशेष अदालत फैसला सुनाने जा रही है। आज देशभर की नज़र इसी पर होगी और इसलिए भी होगी क्योंकि देश के कई नामी बड़े राजनेता इस मुकदमे में फंसे हुए हैं। पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी(Lalkrishna Advani), BJP के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi), UP के पूर्व CM कल्याण सिंह (Kalyan Singh), MP की पूर्व CM उमा भारती (Uma Bharati), बीजेपी के वरिष्ट  नेता विनय कटियार समेत कुल 32 आरोपी हैं। अब आज अदालत बताएगी कि बाबरी गिरी थी तो उसे साजिश के तहत   गिराया गया था या फिर वो कारसेवकों का क्षणिक गुस्सा भर था। जो भी हो फैसला अभी हो जाएगा।

आइये देखते हैं क्या हो रहा है अभी:

  • कुछ देर पहले ही साक्षी महाराज भी लखनऊ कोर्ट में पहुंच गए हैं। अब देखा जाए तो सभी आरोपी अदालत में पहुंच गए हैं, जबकि कुछ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसले को सुन रहे हैं। कुछ ही देर में अदालत की सुनवाई शुरू हो सकती है।
  • बताया जा रहा है कि लाल कृष्ण आडवाणी,  मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, महंत नृत्यगोपाल दास समेत 6 लोग आज कोर्ट में पेश नहीं होंगे। आज इन सभी की तरफ से निजी तौर पर पेश होने की छूट के लिए वकील कोर्ट में अपनी अर्जी पेश करेंगे। उनके लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कोर्ट की कार्यवाही में शामिल होने और हर हाल में कोर्ट के फैसले पर सहयोग की अंडर टेकिंग दी जाएगी।

बाबरी विध्वंस के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:

1993 में HC के आदेश बनी विशेष अदालत :

  • साल 1993 में इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर लखनऊ में विशेष अदालत भी इसके लिए बनाई गई थी, जिसमें मुकदमा संख्या 197/92 की सुनवाई होनी थी। इस केस में हाईकोर्ट की सलाह पर 120बी की धारा आगे जोड़ी गई थी , जबकि मूल FIR में यह धारा नहीं जोड़ी गई थी। अक्टूबर 1993 में CBI ने अपनी चार्जशीट में 198/92 मुकदमे को भी जोड़कर संयुक्त चार्जशीट फाइल की थी क्योंकि अब दोनों मामले जुड़े हुए थे।उसी आरोप पत्र में विवेचना में  बाल ठाकरे, नृत्य गोपाल दास, कल्याण सिंह, चम्पत राय जैसे 48 नाम भी जोड़े गए। बताया जाता है कि CBI की सभी चार्जशीट मिला लें तो दो से ढाई हजार पन्नों की यह बड़ी चार्जशीट रही होगी।

कब दर्ज हुई थी पहली FIR:

  1. इस मामले में पहली पहली FIR मुकदमा संख्या 197/92 को प्रियवदन नाथ शुक्ल ने शाम 5:15 पर बाबरी मस्जिद ढहाने के मामले में तमाम अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 395, 397, 332, 337, 338, 295, 297 और 153ए में मुकदमा दर्ज किया गया था ।
  2. वहीं दूसरी FIR मुकदमा संख्या 198/92 को चौकी इंचार्ज गंगा प्रसाद तिवारी की तरफ से आठ नामजद लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया, जिसमें भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, तत्कालीन सांसद और बजरंग दल प्रमुख विनय कटियार, तत्कालीन VHP महासचिव अशोक सिंघल, साध्वी ऋतंभरा, विष्णु हरि डालमिया और गिरिराज किशोर शामिल थे। इनके खिलाफ धारा 153ए, 153बी, 505 में मुकदमा लिखा गया।
  3. इसके बाद फिर  जनवरी 1993 में 47 अन्य मुकदमे दर्ज कराए गए, जिनमें पत्रकारों से मारपीट और लूटपाट जैसे आरोप थे।
  • बताया जा रहा है कि पूर्व उप PM लाल कृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व CM कल्याण सिंह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस फैसला को  सुनेंगे। राम वेलास वेदांती, साध्वी ऋतंभरा भी कोर्ट पहुंच गई हैं। वहीं कोर्ट के अंदर 16 कुर्सियां लगाई गई हैं।
  • ख़बरों के अनुसार बाबरी विध्वंस केस के अन्य आरोपी विनय कटियार भी अदालत पहुंच चुके  हैं। इससे पहले  विनय कटियार ने कहा था कि सजा होगी तो जेल जाएंगे, छूटते हैं तो आगे देखेंगे। बेल होगी तो हम लेंगे। हमने ऐसा कोई बड़ा अपराध किया ही नहीं है। वहां पर मंदिर था और मंदिर ही बनेगा। सोमनाथ मंदिर की तरह बढ़िया मंदिर बनाया जायेगा , ऐसी कल्पना है। उसके लिए काम जारी है। आने वाले 4 साल में वहां भव्य मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा।
  • ख़बरों के अनुसार CBI के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव भी  अदालत परिसर पहुंच गए हैं। अदालत अब से कुछ ही देर यानी 10:30 बजेबैठेगी। इसके बाद इस केस पर फैसला सुनाया जाएगा।
  • अब से थोड़ी ही देर में  फैसला आएगा। चंपत राय, जय भगवान गोयल और रामजी गुप्ता भी  CBI कोर्ट पहुंच गए हैं।
  • बाबरी विध्वंस मामले  के फैसले के मद्देनजर अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था बहुत कड़ी कर दी गई है। आज चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। हर आने-जाने की चेकिंग के साथ ही पूछताछ भी की जा रही है।

लखनऊ. भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lalkrishna Advani), मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi), उमा भारती (Uma Bharati) और कल्याण सिंह के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बुधवार को फैसला सुनाने जा रही विशेष सीबीआई अदालत में हाजिर होने की संभावना बहुत कम है।

अभियुक्तों के वकील केके मिश्रा ने इस आशय की जानकारी देते हुए यह भी बताया कि राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के भी अदालत में हाजिर होने की संभावना बेहद कम है।

अन्य अभियुक्तों में विनय कटियार, महंत धर्मदास, राम विलास वेदांती, लल्लू सिंह, चंपत राय और पवन पांडे फैसला सुनाए जाने से पहले लखनऊ पहुंच गए हैं। विशेष सीबीआई अदालत 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में आज फैसला सुनाएगी। उच्चतम न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई पूरी करने के लिए 30 सितंबर तक का समय दिया था। 

Advertisement
OK

We use cookies on our website to provide you with the best possible user experience. By continuing to use our website or services, you agree to their use.   More Information.