nk-arora

    नई दिल्ली: कोरोना वायरस की तीसरी लहर के संभावित खतरे के बीच कोविड वर्किंग ग्रुप के प्रमुख एनके अरोड़ा ने बड़ा ऐलान किया। रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, “जायडस कैडिला वैक्सीन का ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है। जुलाई के अंत तक या अगस्त में, हम 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका देना शुरू कर सकते हैं।”

    हर महीने एक करोड़ टीका लगाने का लक्ष्य 

    अरोड़ा ने कहा, “ICMR एक स्टडी लेकर आया है जिसमें कहा गया है कि तीसरी लहर देर से आने की संभावना है। हमारे पास देश में हर किसी का टीकाकरण करने के लिए 6-8 महीने की विंडो अवधि है। आने वाले दिनों में, हमारा लक्ष्य हर दिन 1 करोड़ खुराक देने का है।”

    ज्ञात हो कि, दूसरी लहर के आया संकट अभी पूरी तरह हटा ही नहीं था कि, तीसरी लहर का खतरा मंडराने लगा है। वैज्ञानिकों ने संभावना जताई है कि, अगस्त और सितंबर में तीसरी लहर आ सकती है। इसी के साथ यह भी दावा किया गया है कि, इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित बच्चे ही होंगे। इस संभावना को देखते हुए बच्चों को टीका लगाने की मांग शुरू है। 

    32 करोड़ लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन 

    देश में शुरू टीकाकरण अभियान बड़ी तेजी से शुरू हो चूका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब तक करीब 32 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चूका है। इन में पहले और दूसरा डोज लगवाने वाले सभी शामिल हैं। वहीं बीते शनिवार को करीब 61 लाख लोगों को कोरोना की खुराक दी गई।