प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बड़ा ऐलान, सभी देशवासियों को मुफ्त में लगेगी कोरोना वैक्सीन

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने सोमवार को देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने टीकाकरण अभियान (Vaccination Program) को लेकर बड़ा ऐलान किया है। जिसके तहत 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को मुफ्त में टीका (Free Vaccine) लगाया जाएगा। इसी के साथ ही टीकाकरण को लेकर राज्यों को दी गई जिम्मेदारी ले ली गई है।  

    प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधन में कहा, “वैक्सीन को लेकर आज एक निर्णय लिया गया है, जिसके तहत राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। जिसके तहत राज्यों को वैक्सीन पर कोई खर्च नहीं करना पड़ेगा। सभी देशवासियों को भारत सरकार मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराएगी।”

    25 प्रतिशत टीका निजी अस्पतालों को मिलेगी 

    इसी के साथ प्रधानमंत्री निजी अस्पतालों में लगने वाले टीकों को लेकर भी बड़ी बात कही। पीएम ने कहा, “देश में बन रही वैक्सीन में से 25% निजी क्षेत्र के अस्पताल सीधे ले पाएं ये व्यवस्था जारी रहेगी। निजी अस्पताल वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज़ पर अधिकतम 150 रुपये ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के पास ही रहेगा।”

    100 सालों में आई यह सबसे बड़ी महामारी

    संबोधन की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों को याद कर की। पीएम ने कहा, “भारत कोरोना की लहर के दौरान बहुत बड़ी पीड़ा से गुजरा है। हममे से कई लोगों ने अपनों को खोया है। ऐसे परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। बीते 100 सालों में आई यह सबसे बड़ी महामारी है। इस तरह की महामारी आधुनिक विश्व ने कभी नहीं देखी थी।”

    नवंबर तक मुफ्त में अनाज 

    पीएम मोदी ने कहा, “पिछले साल जिस तरह आठ महीने तक मुफ्त राशन दिया गया था। सरकार ने आज फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। जिसके तहत नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा।”

    वैक्सीन हमारे लिए सुरक्षा कवच की तरह

    प्रधानमंत्री ने कहा, “कोरोना से लडाई में वैक्सीन हमारे लिए सुरक्षा कवच की तरह है। आज अगर हमारे पास वैक्सीन नहीं होती तो भारत जैसे विशाल देश की क्या स्थिति होती? कई दशक पहले भारत को विदेशों से वैक्सीन लेने के लिए दशकों लग जाते थे। आज भारत ने एक साल के अंदर ‘मेड इन इंडिया’ वैक्सीन लांच कर दी।”

    उन्होंने कहा, “इसकी मांग की तुलना में दुनिया में वैक्सीन निर्माताओं की संख्या बहुत कम है। कल्पना कीजिए कि अगर हमारे पास टीके नहीं होते तो भारत में क्या होता। पिछले 50-60 साल के इतिहास पर नजर डालें तो पता चलेगा कि भारत को विदेशों से वैक्सीन मिलने में दशकों लग जाते थे।”

    देश में नेजल वैक्सीन पर अनुसंधान जारी

    नरेंद्र मोदी ने कहा, “देश में अब तक 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज़ दी जा चुकी है। आने वाले दिनों में कोरोना वैक्सीन की सप्लाई बढ़ने वाली है। देश में 7 विभिन्न कंपनियां वैक्सीन का उत्पादन कर रही हैं। अन्य 3 वैक्सीन का ट्रायल भी चल रहा है। बच्चों के लिए भी दो वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है।”

    उन्होंने कहा, “देश में नेजल वैक्सीन पर अनुसंधान जारी है। इसे सिरिंज से ना लेकर नाक में स्प्रे किया जाएगा। अगर यह ट्रायल सफल हो गया तो इससे भारत के वैक्सीन अभियान में और भी तेजी आएगी।”