Big relief to the entertainment industry, shooting will be done on these parameters

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण की वजह से सभी क्षेत्रों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा था. लॉकडाउन होने के बाद से सभी फिल्मों और धारावाहिकों की शूटिंग को रोक दिया गया था. जिसके बाद आज केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को बड़ी राहत दी हैं. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ‘फिक्की फ्रेम्स 2020′ में उदघाटन भाषण को संबोधित करते हुए  इन सभी विषयों पर बताया.

उन्होंने कहा, “महामारी को देखते हुए सरकार भारत में फिल्म शूटिंग की मानक संचालन(SOP) प्रक्रिया जारी करेगी. जिससे फिल्म निर्माण को तेज़ी के साथ फिर से शुरू किया जा सके जो कोविड की वजह से ठहर गया है.” उन्होंने आगे कहा कि “सरकार टीवी सीरियल, फिल्म मेकिंग, को​-प्रोडक्शन, एनिमेशन, गेमिंग समेत सभी प्रोडक्शन में इंसेंटिव भी ला रही है। इनकी जल्द घोषणा की जाएगी.”

जावड़ेकर ने यह भी कहा कि 80 से अधिक विदेशी फिल्म निर्माताओं ने फिल्म सुविधा कार्यालय का लाभ उठाया है। उन्होंने कहा कि ‘फिक्की फ्रेम्स’ में हुई चर्चा निश्चित रूप से नए से नए विचारों को प्रस्तुत करेगी, जिन पर कार्य किया जा सकता है। नीती अयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा, हर संकट को एक अवसर में बदला जा सकता है और भारत को 12-13 बढ़ते क्षेत्रों की पहचान करनी चाहिए, जिसमें सतत उच्च विकास दर हासिल करने और नौकरियां पैदा करने के लिए वैश्विक चैंपियन बनने की क्षमता हो.

इसी तरह के विचार व्यक्त करते हुए स्टार और डिज़नी इंडिया के अध्यक्ष उदय शंकर ने कहा, मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्टर रचनात्मक अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. यह रोजगार और व्यवसाय बना सकता है. उन्होंने आगे कहा “यदि उद्योग को विकसित करना है, तो विज्ञापन पर निर्भरता को कम करना होगा”. शंकर की इस बात क बल देते हुए गूगल  के संजय गुप्ता ने कहा, यह सेक्टर 2020-21 में 20 बिलियन डॉलर से 15 बिलियन डॉलर तक आ सकता है, लेकिन यह ‘क्रिएटिव पॉवरहाउस’ की तरह बाउंस बैक भी होगा. उन्होंने कहा कि सरकार को टैक्सेशन के मामले में इंडस्ट्री के हित में  फैसले लेने चाहिए. इस तकनीकी सत्र में सूचना और प्रसारण सचिव अमित खरे भी मौजूद थे .

‘फिक्की फ्रेम्स वर्चुअल समिट’ 11 जुलाई तक चलेगा. जिसमे प्रमुख विशेषज्ञ मीडिया और मनोरंजन क्षेत्र के विभिन्न पहलुओं पर उद्योग के विचारों पर चर्चा करेंगे. लॉकडाउन की वजह से पूरी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री ठप पड़ी थी. किसी भी प्रकार की शूटिंग की इजाज़त नहीं दी जा रही थी. कई लोगों को भारी नुकसान भी उठाना पड़ा है. लेकिन अब SOP के आ जाने से सभी को राहत मिली हैं. अब दर्शक भी नए कंटेंट का लुत्फ उठा पाएंगे.