ravsaheb danve

मुंबई. दिल्ली की सीमाओं पर पिछले 14 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन (Farmer Protest) को देश भर से विभिन्न संगठनों द्वारा समर्थन मिल रहा है। इसी बीच, केंद्रीय राज्यमंत्री और बीजेपी नेता रावसाहेब दानवे (Center Minister Raosaheb Danave) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, “यह आंदोलन किसानों का नहीं, बल्कि इस किसानों के आंदोलन के पीछे देश के बाहर की साजिश है और इसमें चीन (China), पाकिस्तान (Pakistan) का हाथ है।”

दानवे ने कहा, दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन के पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ बताया है। इस देश में पहली बार मुस्लिम समुदाय (Muslim Society) को उकसाया जा रहा है। उन्हें यह बताया जा रहा है कि, सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के कारण मुस्लिम समुदाय को देश के बाहर जाना पड़ेगा। लेकिन क्या इससे एक भी मुस्लिम व्यक्ति देश के बहार गया? ऐसा सवाल दानवे ने उपस्थित किया। 

दानवे के बयान के बाद स्वाभिमानी किसान संघठन (Swabhimani Kisan Sanghatn) के नेता राजू शेट्टी (Raju Shetti) ने उनकी आलोचना की है। शेट्टी ने कहा कि, बीजेपी नेताओं में कितना उन्माद है यह उनके बयान से पता चलता है। दानवे खुद अन्न और सार्वजनिक वितरण प्रणाली देखते है इसलिए उन्होंने ज़िम्मेदारी से बात करने की उम्मीद है। दानवे के इस बयान से पता चलता है कि, किसानों के प्रति बीजेपी में कितनी संवेदनाएं है। 

ग़ौरतलब है कि, कृषि क़ानूनों (Agriculture Bill) को लेकर मोदी सरकार (Modi Government) द्वारा दिए प्रस्ताव को किसान संगठनों (Farmer Organizations) ने अस्वीकार कर दिया है। बुधवार को सरकार द्वारा भेजे प्रस्ताव पर घाटों तक चिंतन करने के बाद किसानों ने यह निर्णय लिया है। सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर आयोजित प्रेस वार्ता में क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने यह घोषणा की। इसलिए किसानों ने अपने आंदोलन को और तेज करने का ऐलान किया है।