MODI

इंदौर. एक खबर के अनुसार इंदौर (Indore) में किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने बड़ा ही हैरानजनक बयान दे दिया है। वहाँ हुए किसान सम्मेलन में अपने भाषण के दौरान विजयवर्गीय यह बोल गए कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ (Kamalnath) सरकार गिराने में अगर किसी की महत्वपूर्ण भूमिका थी तो वो PM नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की ही थी। 

Courtsey: Anurag Dwary

क्या कहा  कैलाश विजयवर्गीय ने:

दरअसल किसान आंदोलन और कृषि कानून पर छिड़ी तीखी बहस के बीच भारतीय जनता पार्टी ने अलग-अलग कई शहरों में किसान सम्मेलन का आयोजन किया था। वहीं इंदौर  किसान सम्मेलन की ज़िम्मेदारी कैलाश विजयवर्गीय और नरोत्तम मिश्रा को मिली थी।वहां चर्चा के दौरान विजयवर्गीय ने कहा कि बीते मार्च 2020 में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को गिराने में PM नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यही नहीं उन्होंने कहा कि “आप किसी को बताना मत, मैंने आज तक यह किसी को भी नहीं बताया, पहली बार इस मंच से आपको बता रहा हूं कि कमलनाथ जी की सरकार गिराने में यदि किसी की महत्वपूर्ण भूमिका थी तो नरेंद्र मोदी जी की थी, धर्मेंद्र प्रधान जी नहीं।” जब मंच से विजयवर्गीय यह बोल रहे थे तब वहां केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद थे।

कांग्रेस ने घेरा बीजेपी को:

अब विजयवर्गीय के इस सनसनीखेज खुलासे के वीडियो को ट्वीट करते हुए, मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि, “अब तो यह यह स्पष्ट है कि PM नरेंद्र मोदी ही हैं जो संवैधानिक रूप से चुनी हुई सरकारों को असंवैधानिक तरीके से गिराते हैं। हमारी पार्टी कांग्रेस शुरू से ही यह कह रही है, लेकिन बीजेपी ने हमेशा कमलनाथ सरकार के गिरने के लिए कांग्रेस के आंतरिक झगड़े को जिम्मेदार ठराया है। लेकिन अब बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने सच्चाई बता ही दी है।”

क्या थी घटना:

गौरतलब है कि बीते मार्च 2020 को ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindhia) के प्रति निष्ठावान 22  विधायकों (छह मंत्रियों सहित) ने विधानसभा और कांग्रेस पार्टी त्याग दी थी। इसके चलते मध्यप्रदेश में 15 महीने पुरानी कमलनाथ सरकार गिर गई थी। वहीं जून 2020 में ही CM शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chahuhan), पार्टी कार्यकर्ताओं से कथित तौर पर यह कहते पाए गए थे कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने ही कांग्रेस सरकार को गिराने का फैसला किया था। अब चाहे जो हो लेकिन कैलाश विजयवर्गीय के श्रीमुख से निकली हुई ये बात कहीं केंद्र सर्कार और उनकी पार्टी बीजेपी को भरी ना पड़ जाए।