दूल्हे के साथ रातभर घूमती रही बारात, दुल्हन का घर नहीं मिलने पर वापस लौटे

वाराणसी. शादियों का सीजन चल रहा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है। दूल्हे और बारातियों के साथ कुछ ऐसा हुआ जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। दरअसल आजमगढ़ के एक युवक की शादी 10 दिसंबर को मऊ जिले के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के राजीपुर में एक लड़की से शादी तय कराई थी। शादी की रात बाराती और दूल्हा धूमधड़ाके और बैंडबाजे की धुन पर नाचते-गाते जब दुल्हन के घर पहुंचे तो सभी सन्न रह गए।

वहां ना ही कोई मंडप था ना ही दुल्हन का परिवार। बाराती सारी रात दुल्हन का घर और उनके परिवार वालों को ढूंढते रहे। कुछ जानकारी नहीं मिलने पर रविवार सुबह बारात बैरंग लौट गई। बिना दुल्हन के लौटे, गुस्साए ग्रामीणों ने रिश्ता तय कराने वाली महिला को अपने घर बुलाकर बंधक बना लिया और उसकी जमकर पिटाई की। मामला जिले के कांशीराम कॉलोनी का है। यहां के रहने वाले एक युवक की छतवारा की रहने वाली एक महिला ने मऊ जिले के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के राजीपुर में एक लड़की से शादी तय कराई थी। बताते हैं कि, जिस लड़की से युवक का रिश्ता तय हुआ था उसकी नरौली स्थित एक दुकान पर दिखाई हुई थी। इसके बाद दोनों पक्षों में बातचीत के बाद शादी तय हुई। शादी का मुहूर्त भी 10 दिसंबर का निकला। आरोप है कि लड़की वालों ने गाजे-बाजे और लाइट आदि की व्यवस्था के लिए लड़के वालों से 20 हजार रुपये भी ले लिए। तय तारीख के अनुसार कांशीराम से बारात रानीपुर पहुंची तो वहां न तो कोई मंडप दिखा और न ही लड़की का घर।

जिसके बाद मामला कोतवाली पुलिस थाने पहुंचा। उसके साथ युवक की मां और अन्य लोग भी कोतवाली पहुंच गए। महिला से पूछताछ करके पुलिस मामले की तफ्तीश करने में जुटी है। आरोपी महिला का दावा है कि, दुल्हन के परिवार वालों ने उनके साथ भी धोखाधड़ी की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधिकारी शमशेर यादव के बताया कि, दूल्हे के परिजनों ने रिश्ता कराने वाली महिला पर गंभीर आरोप लगाए हैं। हमने दोनों पक्षों को समस्या सुलझाने का मौका दिया है। शनिवार की रात दोनों में समझौता होने के बाद दूल्हे के परिवार वालों ने महिला के खलाफ मामला दर्ज नहीं कराया है।