vaccine
Representative Image

    नयी दिल्ली. जहाँ एक तरफ भारत (India) में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर हावी है। वहीं अब देश में कोरोना वैक्सीन की थोड़ी कमी भी देखी जा रही है। लेकिन अब  भारत के कुछ बड़े रईस कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine)लगाने के लिए, चार्टर्ड फ्लाइट्स ले दुबई कि तरफ जा रहे हैं। इतना ही नहीं इसके लिए वे 55 लाख रुपये तक की बड़ी रकम भी खर्च कर रहे हैं।

    यही भी खबर है किये धन्नासेठ लोग वहां फाइजर की वैक्सीन को बड़ी तरजीह दे रहे हैं। लेकिन UAE में तो एस्ट्राजेनेका और साइनोफार्म की वैक्सीन भी फिलहाल उपलब्ध है। इतना ही नहीं UAE में 40 साल और उससे अधिक उम्र को लोगों को फिलहाल मुफ्त में कोरोना वैक्सीन दी  जा रही है।

    पैसे का टशन, दुबई में इंजेक्शन:

    अब इन सब कैफियत को देखते हुए दुबई का रेजिडेंट वीजा रखने वाले अमीर-धनि  भारतीय कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए दुबई का रुख कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक यह ट्रेंड मार्च से देखा जा रहा है जब दुबई ने रेजिडेंट वीजाधारकों को वैक्सीन के लिए रजिस्टर करने की अनुमति दी थी। वहीं अप्रैल में इसमें जबरदस्त तेजी आई , जब भारत में भी कोरोना के मामलों में तेजी देखि गयी थी। 

    इधर दुबई में वैक्सीन लगा चुके कुछ लोगों और वहां जाने के लिए चार्टर ऑपरेटर्स का कहना है कि कुछ लोग वैक्सीन की दो डोज लगाने के लिए फिलहाल दुबई प्रवास पर हैं जबकि कुछ लोग वहां के दो-दो  चक्कर भी लगा रहे हैं। बता दें कि दुबई में फाइजर की वैक्सीन की दो डोज के बीच तीन हफ्ते का अंतर है। 

    55 लाख रुपये तक आता है खर्च:

    कुछ मीडिया रिपोर्ट्स कि मानें  तो वैक्सीन लगाने कि लिए दुबई में आने जाने का खर्च ही 35 लाख रुपये से 55 लाख रुपये है। यह खर्च इससे अधिक भी हो सकता है। लेकिन यह सब ऑपरेटर की प्राइस, सिटी ऑफ ओरिजिन, दुबई में रहने की अवधि और नंबर ऑफ पैसेंजर्स पर प्रमुखता से निर्भर करता है। वहीं जिन भारतीयों धन्नासेठों के बिजनस दुबई में रजिस्टर्ड है, उनके पास तो फिर रेजिडेंट वीजा भी है। इतना ही नहीं UAE, कुछ प्रोफेशनल कैटगरीज की भी अपने यहाँ का रेजिडेंट वीजा देता है। इस प्रकार अब यह भी एक सच है कि पैसा हो तो क्या कुछ नहीं होता।