shivraj

 नयी दिल्ली. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में व्यापम (Vyapam) द्वारा आयोजित पूर्व-चिकित्सा परीक्षा 2009 और परिवहन कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2012 से संबंधित मामलों में दो अलग-अलग पूरक आरोप पत्र (Charge Sheet) दायर किए हैं।

अधिकारियों ने बीते मंगलवार को बताया कि शिवराज सरकार (Shivraj Singh Goverment) के समय  पीएमटी-2009 के मामले में ग्वालियर की विशेष अदालत में दायर पूरक आरोप पत्र में सीबीआई ने 126 आरोपियों की सूची दी है, जिनमें अभ्यर्थी, बहरूपिए, अभ्यर्थियों के अभिभावक और बिचौलिए शामिल हैं जिन्होंने राज्य के मेडिकल कॉलेज में चयन के लिए छद्म अभ्यर्थियों का प्रयोग करने में कथित रूप से मदद की थी।

सीबीआई के प्रवक्ता आरके गौड़ ने यहां बताया कि परिवहन कांस्टेबल भर्ती से संबंधित मामले में 18 अभ्यर्थियों को आरोपी बनाया है। उन्होंने कथित रूप से छद्म अभ्यर्थियों की मदद ली थी। उन्होंने बताया कि यह पूरक आरोप पत्र भोपाल की विशेष अदालत में दायर किया गया है।