File Pic
File Pic

    नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार (Central Government) ने टीकाकरण (Vaccination) को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। जिसके तहत एक मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोग कोरोना का टीका (Vaccine) लगवा सकते हैं। इस बात की घोषणा शनिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister Office) ने की।  

    पीएमओ ने जारी किए अधिसूचना में कहा, “भारत सरकार ने 1 मई से COVID-19 टीकाकरण की उदारीकृत और त्वरित चरण 3 रणनीति की घोषणा की है, जिसके तहत अब 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोग टीका लगवाने के लिए पात्र हैं।

    50 प्रतिशत वैक्सीन की आपूर्ति केंद्र को 

    पीएमओ ने कहा, “कोरोना टीकाकरण रणनीति के चरण 3 के तहत, वैक्सीन निर्माता अपनी मासिक सेंट्रल ड्रग्स लेबोरेटरी की 50 प्रतिशत खुराक भारत सरकार को जारी करेंगे और शेष 50 प्रतिशत खुराक राज्य सरकार और खुले बाजार में आपूर्ति करने के लिए मुक्त हैं।”

    मानदंडों के आधार पर आवंटित 

    पीएमओ ने आगे कहा, “भारत सरकार अपने हिस्से से, टीकों को संक्रमण की हद (सक्रिय कोरोना मामलों की संख्या) और प्रशासन द्वारा लगाई जा रही वैक्सीन की गति के मानदंडों के आधार पर राज्यों/संघ शासित प्रदेशों को आवंटित करेगी। इस मापदंड में वैक्सीन के अपव्यय पर भी विचार किया जाएगा और मानदंड को नकारात्मक रूप से प्रभावित किया जाएगा।”

    विदेशी वैक्सीन पर भी तय होगा नियम

    भारत सरकार ने कहा, “वैक्सीन की आपूर्ति भारत सरकार को 50 प्रतिशत और दूसरे चैनल को 50 प्रतिशत आपूर्ति भारत में निर्मित सभी टीकों के लिए समान रूप से लागू होगी। हालांकि भारत सरकार आयातित वैक्सीन का उपयोग करने के लिए पूरी तरह से तैयार होने की अनुमति सरकार के चैनल के अलावा अन्य में पूरी तरह से उपयोग करने की अनुमति देगी।”

    45 वर्ष के उम्र के लोगों को फ्री वैक्सीन 

    देश में चल रहे टीकाकरण पर सरकार ने कहा, “भारत सरकार के टीकाकरण केंद्रों में पहले की तरह टीकाकरण जारी रहेगा, जो पहले से परिभाषित योग्य लोगों को नि: शुल्क प्रदान किया जाता है अर्थात् स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता, फ्रंट लाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोग।”