hanuman-mandir

    नयी दिल्ली. जहाँ दिल्ली में कुछ दिनों पहले चांदनी चौक (Chandani Chowk) में जिस हनुमान मंदिर (Hanuman Temple) के तोड़े जाने के पीछे आम आदमी पार्टी (AAP) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) में घमासान हुआ था। वहीं अब उसी जगह पर फिर से रातों-रात हनुमान मंदिर का निर्माण करा दिया गया है। अब रातों-रात बन गए इस हनुमान मंदिर पर सियासी हुडदंग शुरू हो चुकी है। अब खुद  को दूसरों से ज्यादा हनुमान भक्त बताने की भी होड़ कई राजनीतिक दलों के बीच शुरू हो गयी है। 

    बता दें कि कल जहाँ बीजेपी की नेता मंडली भजन-पूजन और कीर्तन करने गई थी तो आज वहीं आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता दुर्गेश पाठक (Durgesh Pathak) भी पहुंच गए। विदित हो कि यह वही जगह है जहां अदालती आदेश पर पहले भी मंदिर गिराया गया था। लेकिन अब नया मंदिर उसी पिछले तोड़े गए पुराने मंदिर से चंद मीटर की दूरी पर ही अब नई मूर्ति विराजमान हो गई है।

    आज दिल्ली चांदनी चौक हनुमान मंदिर पहुंचे आम आदमी पार्टी के नेता दुर्गेश पाठक ने पूजा पाठ की। उनके साथ चांदनी चौक के AAP विधायक प्रह्लाद सिंह साहनी भी उपस्तिथ थे। आज उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ हनुमान चालीसा का पाठ भी किया। इस पर चांदनी चौक स्थित हनुमान मंदिर के पुजारी अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि आज तो दिनभर हनुमान चालीसा पाठ का आयोजन किया जा रहा है। 

    वहीं अब नए मंदिर को चारों तरफ से भव्य रूप से भगवा झंडों, गुब्बारों से भी सजाया गया है। यही नहीं अब बीजेपी के नेताओं का भी इस मंदिर में आने का कार्यक्रम है। लेकिन एक ख़ास बात यह भी है कि मंदिर को दोबारा बनाने की अनुमति किसने दी इस बारे में मंदिर के पुजारी तक को कोई भी जानकारी नहीं है। इस ज्वलंत प्रश्न पर मंदिर समिति कोर्ट में क्या ही जवाब देगी अब इसको इसे लेकर भी कोई स्पष्टीकरण भी नहीं है।

    वहीं इन प्रश्नों पर AAP नेता दुर्गेश पाठक का कहना था कि  “बजरंगबली हनुमान के भक्तों ने यह मंदिर बनाया है। देश के अंदर जितने संकट हुए उन्हें बजरंगबली फिर से अच्छा करें। मेरी तो आस्था थी इसलिए आया, टेक्निकल बातें तो प्रभु ही जानें। हम कोर्ट से यही कहेंगे कि रास्ता निकाले। मंदिर भगवान ने बनाया है तो रास्ता भी भगवान् ही निकल देंगे। आज प्रार्थना का समय है कि ईश्वर सुख शांति दें। भगवान बीजेपी को भी सदबुद्धि दे।।।”

    गौरतलब है कि जनवरी २०२१ को जब मंदिर तोड़े जाने का मामला तूल पकड़ रहा था था तब कांग्रेस पार्टी ने भी यहां प्रदर्शन किया था। यही नहीं कांग्रेस ने तो मंदिर हटाने का सीधा आरोप बीजेपी और आम आदमी पार्टी ( AAP) दोनों के मठे पर ही मढ़ा था। वहीं अब उसी जगह पर फिर से रातों-रात हनुमान मंदिर का निर्माण करा दिया गया है। जिसको लेकर अब भारी सियासत जारी है।