मासिक धर्म साबित करने कॉलेज ने उतारे 68 छात्राओं के अंतर्वस्त्र

गुजरात. मासिक धर्म शुरू हैं या नहीं यह साबित करने एक कॉलेज ने 68 छात्राओं के अंतर्वस्त्र उतारे जाने का चौंकाने वाला प्रकार सामने आया है. गुजरात के भुज में यह प्रकार हुआ है. मासिक धर्म शुरू हैं या

गुजरात. मासिक धर्म शुरू हैं या नहीं यह साबित करने एक कॉलेज ने 68 छात्राओं के अंतर्वस्त्र उतारे जाने का चौंकाने वाला प्रकार सामने आया है. गुजरात के भुज में यह प्रकार हुआ है. मासिक धर्म शुरू हैं या नहीं इसकी जांच करने के लिए कॉलेज प्रशासन ने लड़कियों के कपड़ें और अंतर्वस्त्र उतारे। कॉलेज प्रशासन ने दावा किया है कि, मासिक धर्म के कारण लड़कियां नियमों का उल्लघन करती है. इसलिए उन्होंने लड़कियों के अंतर्वस्त्र उतारकर मासिक धर्म की जांच की.

इस मामले में पीड़ित छात्राओं ने कॉलेज ट्रस्टियों से शिकायत की है. यह समाचार अहमदाबाद मिरर ने दिया है.

कॉलेज प्रशासन के नियमों में लड़कियों के मासिक धर्म के दौरान कॉलेज के धार्मिक स्थल और होटल के किचन में जाना और ऐसे समय इन लड़कियों को किसी को भी स्पर्श करना मना है ऐसा कहा गया है.

गुरुवार को होटल वार्डन अंजलिबेन ने कॉलेज के प्रिंसिपल के पास शिकायत की. जिसके बाद एक क्लास की सभी लड़कियों को बहार निकला और किसीका मासिक धर्म शुरू है क्या? ऐसा सवाल किया. दो लड़कियों ने अपने हांथ ऊपर किये उन्हें अलग कर दिया. और बचीं 68 लडकियों की मासिक धर्म की जांच करने वाशरूम ले जाकर उनके कपडे और अंतर्वस्त्र उतारें. 

गुजरात के भुज में 2012 से यह कॉलेज शुरू है. 2014 में इस कॉलेज की नयी बिल्डिंग बनाई गई. इस कॉलेज में बी. कॉम, बीए और बीएससी का स्नातक पाठ्यक्रम पढ़ाया जाता है.

इस घटना के बाद 68 लड़कियों ने आंदोलन कर कॉलेज ट्रस्ट से शिकायत की. कॉलेज प्रशासन ने यह धार्मिक मुद्दा बताकर इसे यही ख़त्म करने को बोला है. अहमदाबाद मिरर में कहा गया है कि, इस मामले में पुलिस स्टेशन में शिकयत नहीं हुई बल्कि जांच समिति का गठन किया गया है.