Congress is unable to digest that there is no longer a remote government: Naqvi

नई दिल्ली. केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने चीन के साथ गतिरोध को लेकर कांग्रेस एवं राहुल गांधी के हमले पर पलटवार करते हुए सोमवार को कहा कि विपक्षी पार्टी को यह हजम नहीं हो पा रहा है कि मौजूदा सरकार रिमोट से नहीं चलती है। उन्होंने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए यह दावा भी किया कि अपने को ‘महाज्ञानी साबित करने’ की कोशिश में वह हर दिन कांगेस का बंटाधार कर रहे हैं। नकवी के कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक मंत्री ने रामपुर में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम (पीएमजेवीके) के तहत 92 करोड़ रूपए की लागत के “सांस्कृतिक सद्भाव मंडप” के शिलान्यास के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘कांग्रेस की स्थिति ‘अधजल गगरी-छलकत जाय’ की हो गई है। उन्हें (राहुल को) ज्ञान किसी चीज का नहीं, लेकिन अपने को महाज्ञानी हर मुद्दे पर साबित करने की कोशिश में हर दिन अपनी पार्टी का ही बंटाधार कर रहे हैं।”

वरिष्ठ भाजपा नेता नकवी ने आरोप लगाया, ‘‘कांग्रेस सामंती सुरूर- सत्ता के गुरुर में अभी भी चकनाचूर है। रस्सी जल गई, पर बल नहीं गया। कांग्रेस के नेता आज भी सरकार को निर्देश-आदेश देते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा, अर्थव्यवस्था, गरीबों के कल्याण, किसानों के हित में उनकी सोंच-समझ के हिसाब से काम किया जाए।” उन्होंने कहा, ‘‘वो हजम नहीं कर पा रहे हैं कि आज वो सरकार नहीं है जिसे वो रिमोट से चलाते थे। आज देश के सम्मान, सुरक्षा, समृद्धि को समर्पित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार है जो देश के सम्मान-सुरक्षा एवं गरीबों की समृद्धि के लिए मजबूती से काम कर रही है। मोदी सरकार ‘समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास’ के संकल्प से सराबोर सरकार है।” गौरतलब है कि कांग्रेस और राहुल गांधी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे गतिरोध को लेकर इन दिनों नियमित तौर पर सरकार से सवाल पूछ रहे हैं और देश को गुमराह करने का आरोप लगा रहे हैं।

नकवी ने रामपुर में जिस “सांस्कृतिक सद्भाव मंडप” का शिलान्यास किया उसमें कौशल विकास का प्रशिक्षण, विभिन्न आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक गतिविधियां, कोचिंग, कोरोना जैसी आपदा में लोगों को राहत देने की व्यवस्था एवं खेल-कूद की गतिविधियां हो सकेंगी। उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के बाद पहली बार मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम (पीएमजेवीके) के तहत देश भर के पिछड़े क्षेत्रों में आर्थिक-शैक्षिक-सामाजिक एवं रोजगारपरक गतिविधियों के लिए बड़ी संख्या में बुनियादी ढांचे का निर्माण कराया है। इनमें 1512 नए स्कूल भवनों, 22514 अतिरिक्त कक्षों; 630 छात्रावासों का निर्माण तथा दूसरी सुविधाएं शामिल हैं।” मंत्री के अनुसार उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत पिछले 3 वर्षों में 3 हजार करोड़ रूपए की लागत से 1 लाख 84 हजार 980 विकास परियोजनाओं का निर्माण कराया है।(एजेंसी)