Controversy erupted over Kamal Nath's statement, BJP condemned, raised questions over Sonia Gandhi's silence

    नई दिल्ली: भाजपा (BJP) ने शनिवार को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) के ‘‘भारत बदनाम हो रहा है” संबंधी बयान के लिए उनकी कड़ी आलोचना की और कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में केंद्र सरकार कोरोना (Corona Virus) के खिलाफ जंग जीतने के लिए लगातार मेहनत कर रही है, वहीं विपक्षी दल इसे कमजोर कर रहे हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंस से आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कमलनाथ के बयान पर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की चुप्पी पर भी सवाल उठाए और कहा कि विभिन्न संवैधानिक पदों पर बैठ चुका कोई व्यक्ति ऐसा ‘‘हल्का और घटिया” बयान कैसे दे सकता है।

    कोरोना प्रबंधन को लेकर केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश में संवाददाता सम्मेलन में कहा था, ‘‘मोदी सरकार के कारण भारत विश्व में महान तो नहीं बन पाया, लेकिन विश्व में आज इनकी नीतियों, नकारापन व लापरवाही से देश बदनाम जरूर हो गया।” कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पर पलटवार करते हुए भाटिया ने कहा कि एक तरफ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना महामारी को परास्त करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही है, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल इस लड़ाई को कमजोर कर रहे हैं।

    उन्होंने कहा, ‘‘यह निंदनीय और दुखद है कि कल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने कहा कि भारत महान नहीं, बदनाम देश है। क्या कोई भारतीय नागरिक, जो उच्च संवैधानिक पदों पर रहा हो, वह ऐसा हल्का और घटिया बयान दे सकता है? भारत महान देश था, महान है और हमेशा महान रहेगा।” भाजपा प्रवक्ता ने कमलनाथ के बयान पर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि कमलनाथ जो भी कहते हैं, वह कांग्रेस की अपनी विचारधारा और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के इशारे पर कहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इस घिनौने वक्तव्य पर कांग्रेस पार्टी शांत क्यों है? सोनिया गांधी ने चुप्पी क्यों नहीं तोड़ी। क्या वह मानती हैं कि भारत महान नहीं, बदनाम है।”

    भाटिया ने आरोप लगाया कि भारत को बदनाम करना कांग्रेस की प्राथमिकता बन गयी है। उन्होंने कहा, ‘‘यह (कमलनाथ का बयान) निंदनीय तो है ही, इस बयान से भारतीयों की भावना बहुत आहत हुई है। कांग्रेस का दोहरे मानदंड और सत्ता सुख के लिए किसी भी निचले स्तर पर उतर जाने का चरित्र रहा है। कांग्रेस के नेता चीनी सोच और इटालियन चश्मे को उतारकर भारत को देखें।” विपक्षी पार्टी पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस आज अपनी जिम्मेदारी भूल गई है और कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के दौरान देश ने यह महसूस भी किया। उन्होंने कहा, ‘‘सकारात्मक आलोचना की जगह कांग्रेस नेताओं ने भ्रम फैलाने और रोड़े अटकाने का काम किया। कांग्रेस को आत्मचिंतन करना चाहिए।” (एजेंसी)