File Photo
File Photo

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप अभी खत्म नहीं हुआ है। मई महीने में कोविड (COVID-19) ने कई राज्यों में कोहराम मचाया हुआ है। राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना का सबसे अधिक तांडव देखने को मिला है। यहां कोविड से हुई मौतों की संख्या देश की तुलना में दोगुनी थी। साथ ही देश के दो अन्य राज्यों में भी ऐसा ही हाल था। मई महीने में पंजाब (Punjab) में कोरोना से मौतों की संख्या 2.8 फीसदी थी और उत्तराखंड में 2.7 प्रतिशत थी। इन तीनों ही राज्यों में राष्ट्रीय औसत से दोगुना जानें गई हैं। 

    ज्ञात हो कि भारत में मई का महिना कोरोना के लिहाज से सबसे अधिक जानलेवा रहा है। इस महीने में अगर मरने वालों की बात करें तो यह संख्या 1,19,183 है। साथ ही अन्य देशों की तुलना में भारत में इस महीने में सबसे अधिक मौतें हुई हैं। दिल्ली की बात करें तो यहां 8 हजार से अधिक लोगों की जान कोविड के कारण गई है। 

    वहीं इसे अगर राष्ट्रीय औसत के हिसाब से देखें तो यहां हर 100 संक्रमित लोगों में 2.9 फीसदी मरीजों की जान गई है।  सिर्फ अंडमान और नागालैंड में मई महीने में मृत्यु दर सबसे अधिक दर्ज की गई है।  अंडमान में 4.2 तो नागालैंड में 3.4 फीसदी मृत्य दर थी।  मई महीने में कोरोना ने इस कदर कहर बरपाया कि देश के नौ राज्यों में 50 फीसदी से अधिक मौतें हुई है।