Corona Death, Samuhik Antim Sanskar
PTI Photo

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोविड से संक्रमित मामलों पर कब लगाम लगेगी यह कहना मुश्किल है। इसी बीच देश में आज कोरोना के रिकॉर्ड 4 लाख 14 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। कोविड को लेकर केंद्र के साथ मिलकर सभी राज्य सरकारें काम कर रही हैं।  दूसरी तरफ कोविड को लेकर कई तरह के सवाल सभी के मन में हैं। इसी कड़ी में एक सवाल ऐसा है कि क्या कोरोना मरीज की लाश को छूने से कोविड संक्रमण फैल सकता है।  

    ज्ञात हो कि कोरोना को लेकर आसपास मौतें की खबरें सामने आ रही हैं। जिसके चलते अधिकतर लोगों के मन में यही सवाल है कि क्या कोरोना मरीज की लाश को छूने से संक्रमण फैल सकता है या नहीं? इंडिया टुडे से बातचीत में एम्स के डॉक्टर प्रवीण गुप्ता ने ऐसी ही कई सवालों के जवाब दिए हैं।  उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया है। 

    डॉ गुप्ता ने कहा कि कोरोना संक्रमित किसी भी शख्स की जब मौत होती है तो उसकी लाश को रैप किया जाता है।  जिसके कारण उसके फैलने का रिस्क बहुत ही कम होता है। उन्होंने कहा कि कोरोना हवा के द्वारा फैलता है, लाश जो होती है किसी भी प्रकार से सांस नहीं लेती है, ना ही खांसती है या छींकती है। इसलिए लाश से कोरोना नहीं फैलता है। 

    केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय ने आज बताया कि देश में कोरोना के 4 लाख 14 हजार 433 नए मामले सामने आए हैं। जबकि लगभग 4 हजार लोगों की जान कोरोना की चपेट में आने से हुई है। इससे पहले बुधवार को कोरोना के 4 लाख 12 हजार से अधिक मामले सामने आए थे।