Modi and Mamata
File Photo

    नयी दिल्ली/कोलकाता. जहाँ एक तरफ कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के बाद मिलने वाले या जारी होने वाले सर्टिफिकेट (Certificate) पर प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) की तस्वीर को लेकर अभी भी विवाद जारी है। इसी क्रम में अब पश्चिम बंगाल (West Bengal) की ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत अब राज्य के तरफ से होने वाले तीसरे चरण के वैक्सीनेशन में 18-44 साल के लोगों को वैक्सीनेशन के बाद CM ममता की तस्वीर वाले सर्टिफिकेट ही  दिए जाएंगे। 

    गौरतलब है कि ममता सरकार की तरफ से यह कदम ऐसे महत्वपूर्ण समय में उठाया गया है जब कुछ ही महीने पहले TMC ने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर छप रही PM मोदी की फोटो को लेकर BJP और प्रधानमंत्री मोदी की भयंकर आलोचना की थी। इतना ही नहीं 2021 में हुए बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान भी TMC ने इस मुद्दे पर चुनाव आयोग से एक शिकायत भी की थी। जिसके तहत TMC ने वैक्सीनेशन के बाद मिलने वाले सर्टिफिकेट पर PM मोदी की लगी तस्वीर को आचार संहिता का घोर उल्लंघन बताया था। 

    गौरतलब है कि पहले भी कई बार ममता बनर्जी यह मांग कर चुकी हैं कि सभी को वैक्सीन मुफ्त में ही लगाई जाए। इसके साथ ही उन्होंने सर्टिफिकेट पर PM मोदी की तस्वीर को लेकर भी उनकी कड़ी आलोचना की थी। हालांकि अब इन्ही TMC को लगता है कि CM ममता की तस्वीर का सर्टिफिकेट पर होना गलत नहीं है। इस मुद्दे पर TMC के सौगत रॉय का कहना है कि यह पहले खुद BJP ने भी किया है। फिर  अगर वो ऐसा कर सकते हैं तो हमारी तरफ से भी ऐसा ही किया जा सकता है। वो अगर ऐसा नहीं करते तो हम भी बिल्कुल ऐसा नहीं करते। 

    इधर ममता शासित TMC सरकार के इस फैसले पर अब BJP भी बुरी तरह से भड़क गई है। इस मुद्दे पर बोलते हुए बीजेपी के सीनियर नेता और राज्य प्रवक्ता समिक भट्टाचार्या का कहना है कि, “TMC अब प्रधानमंत्री पद की गरिमा भी स्वीकार नहीं कर रही है। वहीं CM ममता और TMC अब एक अलग निर्भर देश की तरह बर्ताव कर रही है। TMC अब ये बिल्कुल मानने को तैयार ही नहीं है कि वे लोग फ़िलहाल जहां हैं। वो भी भारत का ही राज्य है और नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं।”