Vaccination

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोविड संकट (COVID-19 Pandemic) के बीच देश में वैक्सीनेशन (Vaccination in India) का काम तेजी से जारी है। इन सब के बीच वैक्सीन की कमी भी लगातार जारी है। राजधानी दिल्ली (Delhi), महाराष्ट्र (Maharashtra), कर्नाटक (Karnataka) सहित कई राज्यों को वैक्सीन की किल्लत के चलते वैक्सीनेशन रोकना पड़ा है। 

    बता दें कि वैक्सीन की कमी के कारण केंद्र और राज्यों के बीच ठनी हुई है। इन सब के चलते आम आदमी को सबसे अधिक दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि कोविन एप पर रजिस्टर करने के बावजूद उनका नंबर आने पर वे टीका नहीं लगवा पा सके हैं। दिल्ली की बात करें तो यहां कोवैक्सीन की सप्लाई बंद होने के कारण आज से कई सेंटर्स पर टीका कारण रोकना पड़ा है। केजरीवाल सरकार के अनुसार दिल्ली में अब सेंटर्स पर वैक्सीन नहीं लग सकेगा। 

    वहीं महाराष्ट्र और कर्नाटक की हालत भी खराब है। दोनों ही जगहों पर 18+ वालों के लिए टीकाकरण रोका गया है।  इसके पीछे वैक्सीन की कमी को बताया जा रहा है।  महाराष्ट्र सरकार की तरफ से एक बयान आया है कि वैक्सीन की आपूर्ति न होने से 18 साल से अधिक लोगों का टीका करण रोका गया है जिससे 45+ वालों को वैक्सीन की दूसरी रोज लग सके।  ठीक इसी तरह का तर्क कर्नाटक ने भी दिया हुआ है।  

    देश में वैक्सीनेशन की कमी के कारण उत्तर प्रदेश, ओडिशा के बाद अब कई राज्यों ने वैक्सीनेशन के मद्देनजर विश्व का रुख कर दिया है।  महाराष्ट्र, राजधानी दिल्ली, कर्नाटक, तेलंगाना ने वैक्सीन के ग्लोबल टेंडर्स की घोषणा कर दी है।