Manish sisodia
File Pic

    नयी दिल्ली: भाजपा की दिल्ली इकाई ने सोमवार को अरविंद केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार जारी टीकाकरण अभियान को लेकर लोगों में भ्रम फैला रही है। वहीं, आम आदर्मी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार कोविड टीके के बजाय विज्ञापन पर पैसे खर्च कर रही है।

    उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को आरोप लगाया कि केंद्र ने दिल्ली के अधिकारियों पर 21 जून से सभी के लिए मुफ्त कोविड टीका उपलब्ध कराने को लेकर उसे धन्यवाद देते हुए, अखबारों में विज्ञापन देने का दबाव डाला है जबकि शहर को 2.94 करोड़ खुराक की जरूरत होने के बावजूद अब तक केवल 57 लाख खुराकें ही मिली हैं। 

    सिसोदिया ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन के दौरान आरोप लगाया, “लोगों को विज्ञापनों की नहीं, टीकों की जरूरत है। मैं प्रधानमंत्री से अगले दो महीनों में 2.3 करोड़ और खुराक की आपूर्ति करने का अनुरोध करता हूं। मैं वादा करता हूं कि हम आपका प्रचार करेंगे…पूरी दिल्ली में विज्ञापन प्रकाशित कराएंगे, लेकिन आप राज्यों को बिना टीका दिए ऐसा करने के लिए कहते रहे हैं।” सात जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि केंद्र सरकार 21 जून से 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी नागरिकों का मुफ्त में टीकाकरण कराएगी और केंद्र सरकार राज्यों को टीकों की खुराकें वितरित करेगी। 

    इस बीच, दिल्ली प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा, “ मुख्यमंत्री केजरीवाल ने टीका खरीदने की आजादी मांगी और केंद्र सरकार ने उन्हें इसकी अनुमति दी। लेकिन, अंतरराष्ट्रीय बाजार में टीका खरीदने में विफल होने के बाद उन्होंने मांग की कि केंद्र सरकार राज्यों के लिए टीका खरीदे।” 

    उन्होंने कहा, “ यह बिल्कुल साफ है कि अरविंद केजरीवाल सरकार ने टीका खरीद में नाकाम रहने पर टीकाकरण को लेकर भ्रम पैदा करने की कोशिश की।” (एजेंसी)