corona-vaccination-drive-pm-modi-covishield-covaxin-vaccine | PM मोदी ने किया कोरोना वैक्सीनेशन का शुभारंभ, बोले- अब दवाई भी और कड़ाई भी | Navabharat (नवभारत)
ट्रेंडिंग टॉपिक्स
ब्रैकिंग न्यूज़
लाईव ब्लॉग
अंतिम अपडेटJanuary, 16 2021

PM मोदी ने किया कोरोना वैक्सीनेशन का शुभारंभ, बोले- अब दवाई भी और कड़ाई भी

ऑटो अपडेट
द्वारा- Rahul Goswami
कंटेन्ट राइटर
11:20 AMJan 16, 2021

PM मोदी: अब हमें नया प्रण लेना है - दवाई भी, कड़ाई भी

11:16 AMJan 16, 2021

PM मोदी: हमारे डॉक्टर्स, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य नमन

11:05 AMJan 16, 2021

PM मोदी ने किया दुसरे देशों को याद

11:02 AMJan 16, 2021

PM मोदी ने याद किया कोरोना काल का समय

10:55 AMJan 16, 2021

PM मोदी: भारत की वैक्सीन tried और tested

10:54 AMJan 16, 2021

PM मोदी: भारतीय वैक्सीन, विदेशी वैक्सीन की तुलना में बहुत सस्ती

10:47 AMJan 16, 2021

PM मोदी: कोरोना से हमारी लड़ाई आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता की

10:43 AMJan 16, 2021

क्या कह रहे हैं PM मोदी

10:36 AMJan 16, 2021

PM मोदी का उद्बोधन शुरू

Load More

नयी दिल्ली. आज से भारत (India) में दुनिया (World) की अब तक की सबसे बड़ी वैक्सीनेशन ड्राइव (Corona Vaccination Drive) शुरू हो रही है। कोरोना (Corona) से निपटने के लिए वैक्सीन की खोज से लेकर अब तक भले ही तरह-तरह की संभावनाएं उजागर होती रही हो, किंतु अब वैक्सीन का इंतजार खत्म हो गया। अब से चंद घंटों बाद PM मोदी (Narendra Modi) कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव (Corona Vaccination Drive)  का शुभारंभ करेंगे । 

गौरतलब है कि इस टीकाकरण अभियान के लिए सभी जरूरी तैयारियां अब कर ली गई हैं। आज यानी शनिवार को सुबह 10:30 के बाद से सम्पूर्ण देश में कोरोना की वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी। इस अभियान के साथ ही आज PM मोदी CoWIN ऐप भी लॉन्च करेंगे।

इसके पहले PM मोदी ने कहा है कि देश कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ आज यानि शनिवार को ‘‘निर्णायक चरण” में प्रवेश करेगा। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘कल 16 जनवरी को देश स्तर पर कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत होगी। कल सुबह साढ़े 10 बजे अभियान आरंभ होगा।” प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम होगा जिसमें समूचे देश को शामिल किया जाएगा और जन भागीदारी के सिद्धांतों पर इसकी शुरुआत के लिए सारी तैयारियां हो चुकी हैं। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान की तैयारियों की समीक्षा की और स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्माण भवन परिसर में बनाए गए विशेष कोविड-19 नियंत्रण कक्ष का जायजा लिया। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि चरणबद्ध तरीके से प्राथमिकता समूह के लोगों को टीके की खुराक दी जाएगी। आईसीडीएस (एकीकृत बाल विकास सेवा) कर्मियों समेत सरकारी और निजी क्षेत्र में काम करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को इस चरण में टीके दिए जाएंगे। हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ भारत का टीकाकरण अभियान दुनिया में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान होगा। उन्होंने कहा कि सीरम इंस्टिट्यूट द्वारा विकसित ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक द्वारा विकसित ‘कोवैक्सीन’, दोनों टीकों को सुरक्षा के मानकों पर सुरक्षित और असरदार पाया गया है तथा महामारी को रोकने में यह सबसे महत्वपूर्ण औजार है। 

‘कोविशील्ड’ और ‘कोवैक्सीन’ की 1.65 करोड़ खुराकों में से सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को डाटाबेस में उपलब्ध स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या के हिसाब से टीकों का आवंटन कर दिया गया है। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 10 प्रतिशत खुराकों को सुरक्षित रखने और एक दिन में एक सत्र में 100 लोगों के टीकाकरण के लिए कहा गया है। कोविड-19 महामारी, टीकाकरण की शुरुआत और कोविन सॉफ्टवेयर के संबंध सवालों के जवाब के लिए एक कॉल सेंटर-1075 भी बनाया गया है। 

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित कोविशिल्ड वैक्सीन की लाखों खुराक देश के समस्त कोनों तक पहुंच गई हैं।  इस टीकाकरण अभियान से पहले, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने राज्यों को दोनों टीकों (Covishield और Covaxin) के लिए एक व्यापक फैक्ट शीट बनाकर भेजी हैं- जिसमें वैक्सीन रोलआउट, फिजिकल स्पेसिफिकेशन, खुराक, कोल्ड चेन स्टोरेज की आवश्यकताओं, मतभेद और हल्की AEFIs (टीकाकरण के बाद प्रतिकूल घटना) के बारे में जानकारी शामिल है। DOs और Don’ts वाले दस्तावेज को सभी प्रोग्राम मैनेजर, कोल्ड चेन हैंडलर और वैक्सीनेटर के बीच भी इसे प्रसारित किया गया है। 

आज देश भर में होनेवाले टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के साथ ही आज गौतम बुद्ध नगर के सांसद और पूर्व मंत्री डॉ। महेश शर्मा देश के पहले ऐसे जनप्रतिनिधि होंगे जो इस अभियान के तहत कोरोना वैक्सीन  लगवाएंगे। हालांकि डॉ शर्मा एक डॉक्टर यानी कोरोना वॉरियर के तौर पर ही आज ये टीका लगवाएंगे। वहीं महाराष्ट्र में 28,500 स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना महामारी से सुरक्षा मिलेगी। प्रत्येक केंद्र पर 100 टीका लगाने की योजना है। जिन लोगों को टीका लगाया जाएगा, उन्हें टीकाकरण का संदेश भेजा जा चुका है। एसएमएस के जरिये इन सभी स्वास्थ्य कर्मियों को  जानकारी दी गई है कि कितने बजे, किस केंद्र पर, किस कंपनी का टीका दिया जाएगा।

गौरतलब है कि राज्य को कोविशील्ड (Covishield) वैक्सीन की 9।63 लाख खुराक और साथ ही कोवैक्सीन (Covaxin) की 20,000 खुराकें मिली हैं जो राज्य के सभी जिलों में वितरित की गई हैं। आज राज्य में 285 केंद्र में से 6 स्थानों पर कोवैक्सीन दी जाएगी। इसमें 4 मेडिकल कॉलेज (मुंबई, औरंगाबाद, सोलापुर और नागपुर) और 2 जिला अस्पताल (पुणे और अमरावती) भी शामिल हैं। नियम और योजनानुसार आज से प्रतिदिन सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक टीकाकरण होगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

क्या किसान आंदोलन पर विदेशी हस्तियों का हस्तक्षेप एक सुनियोजित साजिस?

View Results

Loading ... Loading ...
Advertisement
OK

We use cookies on our website to provide you with the best possible user experience. By continuing to use our website or services, you agree to their use.   More Information.