VACCINATION

    नई दिल्ली: देश में कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) की शुरुआत बड़ी सफलता के साथ शुरू है। पहले चरण में देश स्वास्थ्य कर्मियों (Health Worker) और फ्रंट लाइन कार्यकर्ताओं (Frontline Worker) को टीका लगाया जा रहा है। शनिवार को केंद्र सरकार (Central Government) ने निजी अस्पतालों (Private Hospitals) में लगने वाले कोरोना टीका की कीमत तय कर दी है। जिसके अनुसार अब निजी अस्पतालों में टीका का एक डोज 250 रुपये में मिलेगा।” 

    मिली जानकारी के अनुसार, एक मार्च से शुरू हो रहे कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण से पहले केंद्र सरकार टीका की कीमत तय कर दी है। जिसके अनुसार अब निजी अस्पताल में लोगों को कोरोना का टीका लगवाने वालों को रक डोज का 250 रुपये देने पड़ेंगे, इसमें 100 रुपये सर्विस चार्ज भी शामिल होगा होगा। वहीँ सरकरी अस्पतालों में नि:शुल्क टीका लगाया जाएगा।

    10 हजार अस्पतालों को किया सूचिबद्ध 

    भारत सरकार ने जानकारी देते हुए बताया, टीकाकरण क्षमता को बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में निजी सुविधाओं को शामिल किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना- आयुष्मान भारत  के तहत लगभग 10,000 निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है। इसी के साथ 600 से अधिक अस्पतालों को सीजीएचएस के तहत सूचीबद्ध किया गया और अन्य निजी अस्पतालों को राज्य सरकार के अधीन रखा गया। 

    गुजरात सरकार ने किया ऐलान

    गुजरात सरकार ने निजी अस्पतालों में मिलने वाले कोरोना टीका की कीमत तय कर दी है। राज्य के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने ऐलान करते हुए कहा, “गुजरात में कोरोना वैक्सीन की कीमत निजी अस्पतालों में 250 रुपये होगी और यह राज्य भर के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त प्रदान की जाएगी।”

    ज्यादा से ज्यादा लोगों को लगे कोरोना का टीका

    निजी अस्पतालों में कोरोना का टीका तय करने के पीछे सरकार की मंशा अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाया जा सके। देश में जिस तरह कोरोना के मामले लगातार बढ़ रही है उसको देखते हुए ज्यादा से ज्यादा निजी अस्पतालों को इस्तेमाल किया जा सके। इसी के साथ आम जनता से निजी अस्पताल वाले ज्यादा कीमत ना वसूल सके इसके लिए कीमत तय किया गया है

    शनिवार को आए 16 हजार से ज्यादा मामले 

    देश में शनिवार को कोरोना वायरस के 16 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,10,79,979 हो गयी जबकि अब तक 1,07,63,451 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं 113 लोगों की मौत हुई है, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 1,56,938 हो गयी है।