Corona Vaccine
Representative Image

    मुंबई: भारत (India) में कोरोना (Coronavirus) का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना पीड़ित मरीजों का ग्राफ रोजाना बढ़ा  रहा है। देश के दूसरे राज्यों के मुकाबले, महाराष्ट्र (Maharashtra) में तो कोरोना पूरी तरह से बेकाबू होता नजर आ रहा है। ऐसे में महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी की खबर है, जिसके बाद से केंद्र और राज्य के नेताओं की तरफ से बयानबाजी हो रही है। मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई प्रमुख शहरों में कोरोना की वैक्सीन की किल्लत है। जिन जगहों पर वैक्सीन की कमी है उनमें, सतारा, पनवेल, सांगली भी शामिल हैं। इसकी के साथ खबर है कि, मुंबई में कुल 26 वैक्सीनेशन सेंटर बंद कर दिए गए हैं इससे देश में चली रही वैक्सीनेशन ड्राइव की गति पर भारी असर पढ़ सकता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिन 26 सेंटरों को बंद किया गया है उनमें से 23 वैक्सीनेशन सेंटर नवी मुंबई में हैं।

    बताया जा रहा है कि, मामले की गंभीरता को देखते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने केंद्रीय स्वास्थ मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से बातचीत की है। वैक्सीन की कमी के मामले में महाराष्ट्र के स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे के हवाले से ANI ने कहा है कि, “मुझे बताया गया है कि केंद्र ने COVID19 वैक्सीन की खुराक 7 लाख से बढ़ाकर 17 लाख कर दी है। यहां तक कि यह कम है क्योंकि हमें एक सप्ताह में 40 लाख वैक्सीन की जरूरत होती है और 17 लाख खुराकें भी पर्याप्त नहीं हैं।”

    रिपोर्ट के अनुसार मुंबई में आज कोरोना वैक्सीन की सप्लाई अगर नहीं की गई तो कल से वैक्सीनेशन पर इसका सीधा असर पड़ेगा। मायानगरी मुंबई में मौजूदा समय में 120 सेंटर हैं। जिसमे 73 प्राइवेट है। जबकि 26 अभी वैक्सीन न होने के कारण बंद हैं।