ऑपरेशन नमस्ते: सेना बनाएगी 30 घंटे में आठ लाख मरीजों वाला अस्पताल

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देख कर सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया हैं. शुक्रवार को सेना प्रमुखजनरल मनाेज मुकुंद नरवणे ने प्रेस कांफ्रेंस कर सेना के मिशन " नमस्ते " लौंच

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देख कर सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया हैं. शुक्रवार को सेना प्रमुख जनरल मनाेज मुकुंद नरवणे ने प्रेस कांफ्रेंस कर सेना के मिशन "नमस्ते" लांच किया. जिसके अनुसार सेना आने वाले दिनों में कोरोना से संक्रमित मरीजों को ठीक करने के लिए आठ लाख बिस्तरों का अस्पताल निर्माण करेगी. इसी के साथ देश के सभी जवानों के छुट्टी को तत्काल समय से रद्द करने का आदेश भी दे दिया हैं. 

चार घंटे में करेंगे अस्पताल का निर्माण 
ऑपरेशन नमस्ते की जानकरी देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि, " देश में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए हमने यह निर्णय लिया हैं. जिसके अनुसार हम किसी भी आपातकालीन समय में 24 घंटे के अंदर पहुँच जाएंगे. इसी के साथ हम चार घंटे के अंदर एक सुसज्जित अस्पताल का निर्माण कर देगे जिसमे मरीजों का समय से उपचार हो सके." उन्होंने कहा, " अपने कार्य शैली को देखते हुए हम कह सकते हैं कि सिर्फ 30 घंटो में हम आठ लाख लोगों के लिए अस्पताल का निर्माण कर देंगे."

सेना हर समय तैयार 
सेना मेडिकल सेवा के महानिदेशक ले. जनरल अनूप बनर्जी ने कहा," सेना हर परिस्तिथि से निपटने के लिए तैयार हैं. अगर सरकार हमें इस महामारी से निपटने के लिए लगाती हैं तो हम तैयार हैं." उन्होंने कहा," सेना के पास पर्याप्त संख्या में प्रोटेक्शन सुरक्षा के पर्याप्त संसाधन है. इसी के साथ और की खरीदी जल्द की जाएगी."

पांच अस्पतालों में 1059 कोरोना संक्रमित 
मौजूदा समय में सेना के पांच अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित 1059 मरीजों का इलाज शुरू हैं. इसी के साथ आने वाले दिनों में छह और अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा. जहां जाँच साथ इलाज भी किया जा सके गा.