कोरोना वायरस से 4.5 करोड़ लोगों की जान ख़तरे में

नई दिल्ली: चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तेजी के साथ फैलता जा रहा है. दुनिया के दो दर्जन से ज्यादा देशों में फैले इस महामारी से अभी तक इस महामारी से 1,110 से ज्यादा लोगों की मौत

नई दिल्ली: चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तेजी के साथ फैलता जा रहा है. दुनिया के दो दर्जन से ज्यादा देशों में फैले इस महामारी से अभी तक इस महामारी से 1,110 से ज्यादा लोगों की मौत होचुकी है,वही 44,653 लोग इससे ग्रसित है.  हांगकांग के एक स्वास्थ अधिकारी ने दावा करते हुए कहा की अगर इस वायरस को जल्द नही रोका गया तो वह आधी दुनिया को अपने चपेट में ले लेगा.

हांगकांग के सार्वजनिक स्वास्थ अधिकारी गेब्रियल लेउंग ने बुधवार को दावा करते हुए कहा कि, कोरोना वायरस के इलाज के लिए अगर जल्द ही उपाय नही किया तो वह बीमारी दुनिया के 60 प्रतिशत आबादी को बीमार कर सकती है. उन्होंने कहा, " मौजूदा वक़्त में इस बीमारी से जरी मृत्यु दर से लाखों लोग मर सकते है."

दुनिया मी मौजूदा जनसंख्या सात अरब से ज्यादा है. वही दावा किए गए मृत्यु की दर से दुनिया के 60 प्रतिशत आबादी में से 4.5 करोड़ लोगों की जान इस बीमारी से जा सकती है. 

इस बीमारी को रोकने के लिए चीन के साथ पूरी दुनिया कई प्रकार के कदम उठारही है. मौजूदा समय में चीन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या कम होरही है. पहले जहाँ इस बीमारी से एक दिन में मरने वालों की संख्या आठ थी, अब पांच पर पहुँच गई है. इस बीमारी पर शोध करने वाले वैज्ञानिकों ने इसे काफ़ी उत्साह वर्धक बताया है. 

डब्लूएचवो ने किया नाम कारण 
विश्व स्वास्थ संगठन ने तेजी के साथ फैलते इस महामारी को नया नाम दिया है. डब्लूएचवो के अध्यक्ष तेदरोस अदहानोम गेब्रेयसेस ने जिनेवा में आयोजित पत्रकार सम्मलेन में कहा, " हमने इस बीमारी का मौजूदा नाम बदलते हुए इसे ‘कोविड-19’ कर रहे है. नाम का मतलब बताते हुए उन्होंने कहा कि, ‘को’ का मतलब ‘कोरोना’, ‘वि’ का मतलब ‘वायरस’ और ‘डी’ का मतलब ‘डिसीज’ (बीमारी) है."