कोरोना वायरस से 564 नहीं, 24,000 लोगों की हुई मौत

तायपेई: कोरोना वायरस से चीन में हुई मौतो की संख्या को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है. चीन की कंपनी नेटेनसेंट के मुताबिक के मुताबिक कोरोना वायरस 24,500 से ज्यादा की मौत होचुकी है. टेनसेंट के इस

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से चीन में हुई मौतो की संख्या को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है. चीन की कंपनी ने टेनसेंट के मुताबिक के मुताबिक कोरोना वायरस 24,500 से ज्यादा की मौत होचुकी है. इस खुलासे के बाद पूरी दुनिया में भूचाल आगया है. ख़बर के बाहर आने के बाद कंपनी ने डाटा अपने वेबसाइट से निकाल दिया. जिसके बाद चीन पर मौत के आकडे छुपाने का आरोप लगाया जा रहा है.  वही टेनसेंट ने इस पर अभी तक कोई स्पष्टीकरण जारी नहीं किया है।

बतादे कि, चीनी सरकार ने इस वायरस से देश में 564 लोगों की मौत होने की जानकारी दी है. वही 28000 से ज्यादा लोग इससे प्रभावित है. 

दरअसल, ताइवान के एक समाचार पत्र ‘ताइवान न्यूज’ छपी रिपोर्ट के अनुसार, चीन की कंपनी टेनसेंट की साइट पर महामारी द्वारा पैदा हुए हालात पर ट्रैकर नाम का एक आइकन था. जिसपर एक फरवरी तक इस वायरस से हुए मौत का आकड़ा करीब साढ़े 24 हजार दिख रहा था. जबकि उस समय सरकारी के मुताबिक मरने वालों की संख्या महज 304 लोगों की थी."

यह ख़बर भी पढ़े- उत्तर प्रदेश: कोरोना वायरस की दहशत, महामंग्कोल मंदिर पर जड़ा ताला

रिपोर्ट में कहा गया है कि, " ऐसे में टेनसेंट की जानकारी पर भरोसा किया जाए तो सरकार के आंकड़ों से 80 गुना अधिक लोग इस बीमारी की वजह से मर चुके हैं। इतना ही नहीं संदिग्ध मामलों और बीमारी से ठीक हुए लोगों की संख्या में भी खासा अंतर देखने को मिला रहा है." 

इस खुलासे के बाद सोशल मीडिया में लोगों की प्रतिक्रया की बाढ़ आगई है कोई इसे कंपनी द्वारा हुए कोडिंग की गलती बता रहा है, तो कोई इसे जानबुजकर लीक किया हुआ बता रहा है. पिछले दिनों सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमे चीन के अस्पतालों के बाहर कोरोना वायरस से मरने वालों को की लाशे पड़ी हुई है.