पहले दिन लगा 1,91,181 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका, नहीं दिखा कोई साइड इफ़ेक्ट

नई दिल्ली: देशवासियों के लिए शनिवार का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। पिछले 10 महीने से विश्वव्यापी कोरोना महामारी (Corona Virus Pandemic) को ख़त्म करने का अभियान शुरू हो गया है। जिसकी शुरुआत स्वास्थ्य कर्मियों (Health Worker) को टीका लगाकर किया गया। अभियान के पहले दिन करीब 1,91,181 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। इस बात की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) ने दी।

ज्ञात हो कि, देश में टीकाकरण के लिए में 3,006 सेंटरों को तैयार किया गया है। जिसमें रोजाना एक सेंटर पर 100 लोगों को टीका दिया जा सकता है, जिसके अनुसार रोजाना तीन लाख लोगों को टीका लगाया जा सकता है।

कोई प्रतिकूल प्रभाव के मामले नहीं

टीकाकरण अभियान के पहला दिन समाप्त होने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयोजित प्रेस वार्ता में कहा, “कोरोना टीकाकरण अभियान का पहला दिन सफल रहा हैं। इस दौरान करीब 1,91,181 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। अब तक टीकाकरण के बाद अस्पताल में भर्ती होने का कोई मामला नहीं है।” 

दोनों वैक्सीन सभी जगह पहुंची  

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, “सीरम संस्थान की कोविशिलङ की आपूर्ति सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को किया गया था। वहीं दूसरी भारत बायोटेक को COVAXIN को 12 राज्यों को आपूर्ति की गई थी। दोनों टीकों के साथ देश भर में कुल 3351 सत्र का आयोजित किया गया।”

पहले दिन आई थोड़ी रुकावट

टीकाकरण के पहले दिन आई चुनौतियों पर मंत्रालय ने कहा, “टीकाकरण का पहला दिन होने के वजह से कुछ दिक्कतें सामने आई, जैसे कुछ सत्र स्थलों पर लाभार्थी सूची अपलोड करने में देरी और स्वास्थ्य कर्मियों को आज के सत्र के लिए निर्धारित नहीं किया गया शामिल हैं। हालांकि दोनों मुद्दों को सुलझा लिया गया।”