Farmer Sanjay Tidke gave 11 thousand rupees in Chief Minister's aid fund. Help fund

मुंबई: कोरोना वायरस के वजह से पूरी दुनिया सकते में हैं. लोगों के स्वास्थ के बाद अब यह देश के अर्थव्यवस्था पर भी असर डालने लगा हैं. मंगलवार को वायरस के वजह से शेयर मार्किट के साथ भारतीय रुपया में बढ़ी

मुंबई: कोरोना वायरस के वजह से पूरी दुनिया सकते में हैं. लोगों के स्वास्थ के बाद अब यह देश के अर्थव्यवस्था पर भी असर डालने लगा हैं. मंगलवार को वायरस के वजह से शेयर मार्किट के साथ भारतीय रुपया में बढ़ी गिरावट दर्ज की गई. मंगलवार को अमरीकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रूपया 56 पैसे की गिरावट के साथ 73.29 पर बंद हुआ. रुपए में गिरावट से आम जनता की मुश्किलें बढ़ जाएगी. 

अर्थव्यस्था पर पड़ेगा गहरा असर 
भारतीय रुपए में होरही गिरावट के वजह से देश की अर्थ व्यवस्था पर गहरा असर पड़ सकता हैं. आम जीवन में इस्तमाल होने वाली रोज-मरहा की चीजों के दामों में बढ़ोतरी होसकती हैं. भारत अपना 80 कच्चा तेल अन्य देशो से आयत करता हैं. जिसके वजह से भारत को ज्यादा पैसे देने होगे. वहीँ पेट्रोल डीजल के दामों में वृद्धि होंगी, जिसके वजह से रोज इस्तमाल होने वाली चीजों के लिए जनता को ज्यादा पैसा देना पड़ेगा. 

बढ़ेगी महगाई 
कच्चे तेल के साथ भारत बाहर से दाल और खाने का तेल भी ज्यादा मात्रा में आयत करता है. रुपए में गिरावट के वजह से महंगाई बढ़ सकती हैं. तेल और दाल के दामों में बढ़ोतरी निश्चित हैं. डीजल के रेट में बढ़ोतरी के वजह से परिवहन में खर्च बढ़ जाएगा. जिसके वजहों से चीजों के दम बढ़ना लाजमी हैं. 

गौरतलब है कि, चीन में फैले कोरोना वायरस के वजह से वह के साथ अन्य देशो के अर्थव्यवस्था पर काफ़ी असर पढ़ा हैं. चीन के शेयर बाजार में पिछले दिनों दशक की सबसे बड़ी गिरावट देखि गई थी. इसी के साथ उसके निर्यात और उत्पादन में भी भारी गिरावट हुई हैं.