Sputnik-v

नयी दिल्ली. डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज और रूसी डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने कोरोना वायरस के स्पूतनिक-वी टीके का भारत में दूसरे-तीसरे चरण का नैदानिक परीक्षण शुरू किया है। उन्होंने कहा कि कसौली स्थित केंद्रीय औषधि प्रयोगशाला से आवश्यक मंजूरी मिलने के बाद परीक्षण शुरू हो गया है।

संयुक्त बयान में बताया गया कि यह परीक्षण कई स्थानों पर हो रहा है। इसके लिये जेएसएस मेडिकल रिसर्च को नैदानिक अनुसंधान साझेदार बनाया गया है।

डॉ रेड्डीज ने जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान सहायता परिषद के नैदानिक परीक्षण केंद्रों का इस्तेमाल करने लिये भी समझौता किया है। परिषद का जैव प्रौद्योगिकी विभाग परीक्षण में परामर्श प्रदान करा रहा है।