corona
File Photo

नयी दिल्ली.  भारतीय औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने टाटा CRISPR (क्लस्टर्ड रेगुलरली इन्टरस्पेस्ड शॉर्ट पालिंड्रोमिक रिपीट्स) कोरोना (Corona) जांच ‘फेलुदा’ के व्यावसायिक लॉन्च को मंजूरी दे दी है। वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) ने शनिवार को यह जानकारी दी।

सीएसआईआर ने एक बयान में कहा, ‘‘इस जांच में सार्स-कोव-2 वायरस के जीनोमिक अनुक्रम का पता लगाने के लिए एक स्वदेशी रूप से विकसित, अत्याधुनिक सीआरआईएसपीआर तकनीक का उपयोग किया गया है।”

टाटा CRISPR जांच की सटीकता का स्तर पारंपरिक आरटी-पीसीआर जांच जितना ही है, लेकिन यह कम समय, कम लागत में परिणाम देती है और इसका इस्तेमाल भी आसान है। इस तकनीक को सीएसआईआर-आईजीआईबी (इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी) द्वारा विकसित किया गया है।