Modi advocated for local products, said: We should be vocal about local

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान का दिन जैसे जैसे पास आरहा है वैसे ही चुनाव में जीत के लिए सभी राजनितिक पार्टीयों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस क्रम में आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान का दिन जैसे जैसे पास आरहा है वैसे ही चुनाव में जीत के लिए सभी राजनितिक पार्टीयों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस क्रम में आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाजपा प्रत्याशियों के प्रचार की शुरुवात की है. अपनी पहली सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "  दिल्ली ने भाजपा को मजबूती दी है, भाजपा जो कहती है करती है। भाजपा के लिए देशहित सबसे ऊपर।"

बतादे की प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली विधानसभा चुनाव में दो रैलीयों को संबोधित करने वाले है. जिसके तहत वह दिल्ली के ४० विधानसभा सीटों पर सीधे पंहुचा j  अ सके. कड़कड़डूमा के सीबीडी ग्राउंड में आयोजित रैली पहली रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " बीते कई दिनों से भाजपा और सहयोगी दलों के कई वरिष्ठ नेता, तमाम उम्मीदवार, कार्यकर्ता और यहां के जागरूक नागरिक, आपके बीच आ रहे हैं, अपनी बात रख रहे हैं।" उन्होंने कहा, " दिल्ली के लोगों के मन में क्या है, ये बताने की जरूरत नहीं, ये आज साफ-साफ दिख रहा है।" 

प्रधानमंत्री ने कहा, " दिल्ली सिर्फ एक शहर नहीं हैं, बल्कि ये हमारे हिंदुस्तान की धरोहर है। ये भारत के भिन्न भिन्न रंगो को एक जगह समेटे हुए एक जीवित परंपरा है। ये दिल्ली सबका स्वागत करती है, सत्कार करती है।" उन्होंने कहा, " बंटवारे के बाद जो लोग दिल्ली आए उन्होंने दिल्ली को बदला, जो यहां बस गए उन्होंने दिल्ली के विकास में बहुत मदद की. दिल्ली की मिट्टी में यहां के लोगों का पसीना है." 

मोदी ने कहा, " पीएम मोदी ने कहा 8 फरवरी को पड़ने वाला सिर्फ सरकार बनाने के लिए बल्कि इस दशक में दिल्ली के विकास को ऊंचाइयों को पहुंचाने वाला होगा. ये काम भारतीय जनता पार्टी करेगी, जो यदि कुछ कहती है तो वही करती है. " उन्होंने कहा, " हमारे लिए देश और लोगों का भविष्य सबसे पहले है. "

अवैध कॉलोनियों को नियमित कर ४० लाख लोगों को उनका हक़ दिया
दिल्ली के अवैध कॉलोनियो पर बोलते हुए मोदी ने कहा, " दिल्ली में ही एक बहुत बड़ी समस्या थी, अवैध कॉलोनियों की. आज़ादी के बाद से ही, किसी ना किसी रूप से ये मामला लटका हुआ था. वोट के लिए वादे किए जाते थे, लेकिन समस्या को सुलझाता कोई नहीं था." उन्होंने कहा, " इन कॉलोनियो को वैध कर के हमने 40 लाख से ज्यादा लोगों को उनके जीवन की सबसे बड़ी चिंता से हमारी सरकार ने मुक्त किया है.  जिन लोगों ने सोचा नहीं था कि वो अपने जीवन में कभी अपने घर की रजिस्ट्री करा सकेंगे, अब वो अपने घर का सपना सच होते हुए देख रहे हैं."

भाजपा के घोषणा पत्र पर बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " इन कॉलोनियों के तेज विकास के लिए कॉलोनीज़ डेवलपमेंट बोर्ड बनाया जाएगा. यही नहीं, “जहां झुग्गी वहां पक्का घर” भी बनेगा."  उन्होंने कहा, " हमने संकल्प लिया है कि झुग्गी में रहने वाले परिवारों को पक्का घर जल्द से जल्द दिया जाएगा." 

राजनीती के चलते आवास और आयुष्मान योजना लागु नही किया
दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " पिछले 5 साल में इतना सारा काम देश में हुआ, गरीबों को रहने के लिए घर मिले, लेकिन दिल्ली की सरकार यहां के गरीबों को रहने के लिए घर नहीं देना चाहती। पीएम आवास योजना यहां की सरकार की वजह से लागू नहीं हो पाई है।" उन्होंने कहा, " हमने देश के ५० करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना से पांच लाख रुपये तक का फ्री इलाज दिया लेकिन इस सरकार ने उसे दिल्ली में लागु नही किया."

लोकपाल का क्या हुआ?
लोकपाल के मुद्दे पर केजरीवाल सरकार पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " देश के लोगों को तो लोकपाल मिल गया लेकिन दिल्ली के लोग आज भी इंतजार कर रहे हैं.उन्होंने कहा, " इतना बड़ा आंदोलन, इतनी बड़ी-बड़ी बातें, उन सबका क्या हुआ."

जीएसटी से सामानों पर कर किया कम 
प्रधानमंत्री ने कहा, " जीएसटी गरीब और मध्यम वर्ग के जरूरत की लगभग 99% चीजों पर पहले ही टैक्स कम हो गया है. पहले औसत जीएसटी  रेट 14.4% था. अब इसे और कम करते हुए 11.8% पर ले आया गया है. जीएसटी ने व्यापारियों को भी अनेक तरह के टैक्सों के जाल से बचाया है. जीएसटी  ने अनेकों चुंगियां-चेकपोस्ट खत्म कर दिए हैं. अब हरियाणा या यूपी सामान भेजना हो, या मंगवाना हो, दिल्ली के व्यापारियों की दिक्कतें कम हुई हैं."

देश में बहुत सी बाते पहली बार हुई 
अपनी सरकार द्वारा किए गए कामों को गिनाते हुए नरेद्र मोदी ने कहा, " देश में हमने ऐसे काम किया है जो पहली बार हुआ है." उन्होंने कहा, " पहली बार, 5 लाख रुपए तक की आय पर इनकम टैक्स ज़ीरो हुआ. पहली बार, काले धन की हेरा-फेरी करने वाली साढ़े 3 लाख संदिग्ध कंपनियों को ताला लगा. पहली बार, उद्यमियों को बिजनेस से सम्मानजनक एग्जिट का मार्ग देने वाला आईबीसी कानून बना. पहली बार, देश के हर किसान परिवार के बैंक खाते में सीधी मदद मिली. पहली बार, किसानों, मज़दूरों, छोटे व्यापारियों को पेंशन की सुविधा मिली."

उन्होंने कहा, " पहली बार, 50 करोड़ गरीबों को 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिली. पहली बार, 10 करोड़ गरीब परिवारों तक टॉयलेट की सुविधा पहुंची. पहली बार, 8 करोड़ गरीब बहनों की रसोई में गैस का मुफ्त कनेक्शन पहुंचा. पहली बार ढाई करोड़ से ज्यादा लोगों के घर में बिजली कनेक्शन पहुंचा. पहली बार, नाबालिगों से रेप के केस में फांसी की सज़ा का प्रावधान हुआ. पहली बार, मुस्लिम बेटियों-बहनों को तीन तलाक से, जुल्म और ज्यादती से मुक्ति मिली." 

स्वार्थ की राजनीती में फैसले टलते और अटकते हैं
कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " हमें देश की कई पुराने मुद्दे हल किए है जो पिछले ७० सालो से अटके हुए थे. चाहे धारा ३७० हो, राम जन्म भूमि विवाद हो, हिंदुओं-सिखों-ईसाइयों को नागरिकता देना हो, पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पेंशन का लाभ देना हो, ८४ के सिख दंगो के मुजरिम को सज़ा देना हो, शहीद मेमोरियल बनाना हो, डिफेंस ऑफ़ स्टाफ हो, वायु सेना को लड़ाकू विमान खरीदना हो."

उन्होंने कहा, " ये फैसले पहले भी लिए जा सकते थे, ये समस्याएं पहले भी सुलझाई जा सकती थीं, लेकिन जब स्वार्थ नीति ही राजनीति का आधार हो, तो फैसले टलते भी हैं और अटकते भी हैं."

दिल्ली में भाजपा की सरकार बनाना है 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, " 20 साल बहुत कुछ आपने देख लिया है, बहुत बर्बादी आप देख चुके हैं, अब एक ही रास्ता बचा है। अब दिल्ली में भाजपा का आना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा, " हमारी सरकार आने के बाद जो काम कर रहे हैं, वो काम हम दिल्ली में भी आसानी से कर पाएंगे।"