manish-sisodia

    नयी दिल्ली. दिल्ली (Delhi)  की केजरीवाल सरकार (Kejeriwal Goverment) ने मंगलवार को 2021- 22 के लिये 69,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। बजट को ‘‘देशभक्ति” की विषयवस्तु के साथ तैयार किया गया है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने राज्य का बजट पेश करते हुये कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने देश की स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने का फैसला किया है। इसके लिये वह 12मार्च से 75 सप्ताह तक कार्यक्रमों का आयोजन करेगी। सिसोदिया उप मुख्यमंत्री होने के साथ वित्त मंत्रालय का कामकाज भी संभाले हुये हैं।

    उन्होंने कहा कि देशभक्ति बजट के तहत राज्य सरकार राष्ट्रीय राजधानी में 500 स्थानों पर राष्ट्रीय ध्वज लहराने के लिये 45 करोड़ रुपये की लागत से ऊंचे खंबे लगायेगी। सिसोदिया ने कहा, कि राज्य के विद्यालयों में देशभक्ति की पढ़ाई के लिये ‘‘देशभक्ति पीरियड” भी शुरू किया जायेगा। 

    उन्होंने कहा कि आप सरकार वर्ष 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय को सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय के बराबर ले जाने की इच्छा रखती है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि 75वें सप्ताह के दौरान भगत सिंह के जीवन पर कार्यक्रम चलाने के लिये 10 करोड़ रुपये का आवंटन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अगले वित्त वर्ष के बजट का कुल आकार मौजूदा वर्ष के बजट के मुकाबले 6.1 प्रतिशत अधिक है। 

    आइए, जानें कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अपने इस ई-बजट में आम लोगों के लिए कौन-कौन सी सुविधाएं देने का प्रस्ताव रखा है। 

    यह हैं बजट से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें:

    • अब दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में आम आदमी को फ्री में कोरोना का टीका लगाया जाएगा। 
    • इस मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने के लिए सरकार को करीब 50 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ेंगे। 
    • साल 2047 तक क़रीब 3 करोड़ 28 लाख तक पहुंच जाएगी दिल्ली की आबादी। 
    • इस बजट में बढ़ी आबादी के लिए बुनियादी ढांचा की नींव रखने का ऐलान किया गया। 
    •  दिल्ली में 2021-22 के लिए 69,000 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित किया गया।  ये 2014-15 में 30,940 करोड़ रुपये की बजट राशि से दोगुने से ज़्यादा होगा।  वहीं दिल्ली सरकार का प्रति व्यय 2015-16 के 19,218 रुपये से बढ़कर इस साल 33,173 रुपये होने की उम्मीद है।
    • वहीं दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में और सुधार के लिए सरकार अब क्वालिटी एजुकेशन पर भी ध्यान देगी।  दिल्ली सरकार ने इस बजट में राष्ट्रीय राजधानी में सैनिक स्कूल खोलने का भी ऐलान किया है। 
    • इस महत्वपूर्ण बजट में केजरीवाल सरकार ने पढ़े-लिखे सफल युवाओं को यूथ फॉर एजुकेशन के नाम से योजना करने की भी घोषणा की। 
    • बजट की मानें तो अगले साल से दिल्ली में महिलाओं के लिए विशेष महिला मोहल्ला क्लीनिक भी शुरू किया जाएगा। 
    • दिल्ली सरकार की मोहल्ला क्लीनिक की सफलता को देखते हुए अब सरकार यह नई पहल करने जा रही है।  जिसके तहत दिल्ली सरकार यह जिम्मेदारी निभाएगी कि राजधानी में रहने वाली हर महिला को स्वास्थ्य सुविधा मिले। 
    • आजादी के 100वें साल में दिल्ली में ओलंपिक खेल का आयोजन कराया जाएगा।  अब दिल्ली में खेलों के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किए जा रहे हैं। 
    • वहीं अगले कुछ सालों के भीतर केजरीवाल सरकार और भी व्यवस्थाएं करेगी।  जिसके तहत आगामी 25 साल के बाद यानी साल 2048 में ओलंपिक खेल दिल्ली में आयोजित करने का दावा करने के लिए खेल की तमाम सुविधाएं विकसित करेगी।