Delhi Congress chief and other activists in custody for protesting against rising fuel prices

नई दिल्ली. दिल्ली की कांग्रेस इकाई के नेताओं ने ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया और भाजपा नीत केंद्र सरकार और दिल्ली की आप सरकार के खिलाफ नारे लगाए। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार और पार्टी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने परमानंद अस्पताल के निकट एक पेट्रोल पंप से हिरासत में ले लिया। कुमार ने कहा कि वे सभी राज निवास की ओर जाने की कोशिश कर रहे थे और पुलिस ने इसी दौरान उन्हें हिरासत में ले लिया। राज निवास दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल का आधिकारिक आवास है। ये लोग पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए वहां जा रहे थे।

पुलिस ने बताया कि इन्हें सुबह 10 बजे के करीब हिरासत में लिया गया और जल्द ही छोड़ दिया जाएगा। ईंधन की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए दिल्ली कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ‘‘ लोग पहले से ही कोरोना वायरस और बंद की वजह से पीड़ित हैं और ऐसे में मोदी सरकार और दिल्ली में केजरीवाल सरकार पेट्रोल और डिजल की कीमतों में बढ़ोतरी करके उनकी तकलीफों को और बढ़ा रही हैं। ” सोमवार को डीजल की कीमत एक नई ऊंचाई पर पहुंच गई। पिछले तीन सप्ताह में 22 बार कीमतें बढ़ी है और अब तक प्रति लीटर 11.14 रुपये की बढ़ोतरी हुई है।

तेल विपणन कंपनियों की अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल की कीमत में पांच पैसा प्रति लीटर और डीजल में 13 पैसा प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत अब 80.43 रुपये है जो कि पहले 80.38 रुपये थी। वहीं डीजल की कीमत भी 80.40 रुपये से बढ़कर 80.53 हो गई है। दिल्ली कांग्रेस के नेताओं ने सभी जिलों के पेट्रोल पंप पर विरोध प्रदर्शन किया।(एजेंसी)