दिल्ली में तेजस्वी, कांग्रेस का साथ मिलकर लड़ना चाहते हैं चुनाव

पटना: आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव में राजद कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ना चाह रही हैं। मंगलवार को राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए यह बात कही हैं। उन्होंने कहा कि

पटना: आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव में राजद कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ना चाह रही हैं। मंगलवार को राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए यह बात कही हैं। उन्होंने कहा कि “चुनाव के लिए हमारे प्रभारी मनोज झा (राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य) कांग्रेस के संपर्क में हैं। हमें सम्मानजनक सीटों की हिस्सेदारी और गठबंधन में चुनाव लड़ने की उम्मीद है।” 

उन्होंने उन रिपोर्टों, जिनमें कहा गया था कि राजद को 70 सीटों वाली दिल्ली विधानसभा के चुनाव में पांच सीटें चाहिए थीं, जबकि कांग्रेस तीन से अधिक सीटें देने को तैयार नहीं है, के बारे में कहा, ‘‘इस बारे में झा बता सकते हैं, क्योंकि मैं बातचीत में शामिल नहीं हूं।” उन्होंने कहा, “दिल्ली में ऐसी सीटें जहां बिहार और पूर्वांचल (पूर्वी उत्तर प्रदेश) वासी अच्छी खासी संख्या में हैं, हम इनमें से कुछ का चुनाव करना चाहते हैं। हमने पहले भी ऐसी सीटों पर जीत दर्ज की है।"
 
वही दूसरी ओर तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को सत्र के दौरान कुछ पुरानी बातें याद करा दीं। उन्होंने संबोधित करते हुए सदन में कहा, ‘सारा खेल आप जानते हैं। हमें याद है, जब हम उप मुख्यमंत्री थे तो आपके बगल में बैठते थे। आप हमें कहा करते थे कि आरएसएस वाले लोग बहुत खतरनाक हैं, इनके डिजाइन से बचना बहुत खतरनाक हैं। आप कहा करते थे। आप हमारा हौसला बढ़ाते थे। बहुत लंबी लड़ाई है, इतनी आसानी से नहीं लड़ी जाएगी। कहा करते थे कि अब तुम्हीं लोगों को संभालना है। ये बात चिराग पासवान को कहते होंगे। वो बेचारे फंस जाते होंगे।’
 
CAA और NRC को लेकर तेजस्वी यादव नीतीश कुमार पर दबाव बनाते जा रहे हैं। साथ ही वह अब दिल्ली मैं भी अपने पैर जमाने की तिकड़म लगा रहे है जैसे वह कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सत्ता में तो शामिल हो ही जाए। अब देखना यह है कि क्या कांग्रेस तेजस्वी यादव को दिल्ली में अपने साथ मिलाती है या फिर यह सिर्फ भाषणबाज़ी तक ही सीमित रह जाने वाला हैं।